ताज़ा खबर
 

हरियाणा के मंत्री अनिल विज ने लगवाया कोरोना का टीका, जानें कहां तक पहुंचा कोवैक्सिन का ट्रायल, आपको कब मिलेगी?

भारत बायोटेक की कोवैक्सिन के तीसरे चरण का परीक्षण राज्य में शुक्रवार से आरंभ हुआ। इसमें, भाजपा के 67 वर्षीय नेता को अंबाला कैंट के सिविल हॉस्पिटल में परीक्षण खुराक दी गई।

Author Edited By सिद्धार्थ राय नई दिल्ली | Updated: November 20, 2020 6:11 PM
Anil Vij covaxin, haryana health minister, Anil Vij, covaxin, coronavirus vaccine, Anil Vij covid-19 vaccine, coronavirus vaccine covaxin, Anil Vij covaxin volunteer, haryana covaxin trial, coronavirus vaccine india, india coronavirus vaccine newsहरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री विज ने ली कोविड-19 के स्वदेश विकसित टीके की परीक्षण खुराक। (Source: Health minister’s office)

कोरोना का प्रकोप कम होने का नाम ही नहीं ले रहा है। भारत में रोजाना हजारों की संख्या में लोग संक्रमित पाये जा रहे हैं। इसी नीच हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज को शुक्रवार को यहां कोरोना वायरस से बचाव के लिए स्वदेश विकसित संभावित टीके कोवैक्सिन की परीक्षण खुराक (ट्रायल डोज) दी गई। टीके के तीसरे चरण के परीक्षण के लिए स्वैच्छिक रूप से आगे आने वाले वह राज्य के पहले व्यक्ति हैं।

भारत बायोटेक की कोवैक्सिन के तीसरे चरण का परीक्षण राज्य में शुक्रवार से आरंभ हुआ। इसमें, भाजपा के 67 वर्षीय नेता को अंबाला कैंट के सिविल हॉस्पिटल में परीक्षण खुराक दी गई। ऐसा बताया जाता है कि विज किसी भी राज्य सरकार के ऐसे पहले कैबिनेट मंत्री हैं जो स्वेच्छा से कोविड-19 के संभावित टीके की परीक्षण खुराक लेने के लिए सामने आए हैं। सिविल सर्जन डॉ. कुलदीप सिंह ने संवाददाताओं को बताया कि विज को कोवैक्सिन की खुराक सफलतापूर्वक दी गई।

हालांकि, इससे पहले अस्पताल में मंत्री की कुछ जांचें करवाई गई थीं और टीका लगाने से पहले उन्हें कुछ समय तक निगरानी में रखा गया था। अस्पताल जाने से पहले विज ने संवाददाताओं से कहा था कि यदि सब ठीकठाक रहता है तो कोविड-19 से बचाव के लिए टीका अगले साल की शुरुआत तक उपलब्ध हो जाएगा। इस संभावित टीके का विकास भारत बायोटेक ने भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद के साथ मिलकर किया है।

इस मौके पर रोहतक स्थित पीजीआई मेडिकल यूनिवर्सिटी के वीसी ओपी कालरा सहित कई डॉक्टरों की टीम भी अंबाला कैंट पहुंची हुई थी। ट्रायल से पहले डॉक्टरों की टीम ने विज के स्वास्थ्य की जांच की। रोहतक पीजीआई के एक्सपर्ट डॉक्टरों की निगरानी में अंबाला छावनी के सिविल असपताल मे अनिल विज को वैक्सीन इंजेक्ट की गई।

इसके बाद विज ने लोगों से अपील की है कि इसमें डरने वाली कोई बात नहीं है। उन्होंने कहा कि ज्यादा से ज्यादा संख्या में लोगों को आगे आकर इसका हिस्सा बनना चाहिए। विज ने कहा कि हमारे लिए यह बहुत गर्व की बात है कि जिस कोरोना की बीमारी से पूरा विश्व पीड़ित और भयभीत है उससे लड़ने के लिए हिंदुस्तान की एक कंपनी भारत बायोटैक कोरोना की वैक्सिन तैयार कर रही है और इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च के साथ मिलकर ट्रायल कर रही है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 MP: घर को प्यारे मियां ने बना रखा था डांस बांस, चलाता था जिस्मफरोशी का धंधा! निगम ने ढहाया अवैध निर्माण
2 नशा ‘नेट’ का! भाई से खत्म हो गया था डेटा, आग बबूला हो बड़े भाई ने चाकू से गोद-गोद कर दी हत्या, खून से लथपथ देख बहन-मां रह गईं हैरान
3 वक्फ बोर्ड घोटालाः केंद्र की हरी झंडी के बाद वसीम रिजवी के खिलाफ CBI ने दर्ज किया केस
यह पढ़ा क्या?
X