ताज़ा खबर
 

हरियाणा: रोहतक कोर्ट परिसर के बाहर फायरिंग, एक की मौत, महिलाओं के कपड़े पहनकर आए थे बदमाश

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, हिस्ट्री शीटर रमेश लोहार को मारने के लिए यह फायरिंग हुई थी

Author Updated: March 28, 2017 1:49 PM
इस तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

हरियाणा के रोहतक कोर्ट परिसर के बाहर मंगलवार को अंधाधुंध फायरिंग की गई। इसमें 3 लोगों को गोली लगी और एक शख्स की मौत हो गई। बताया जा रहा है कि यह फायरिंग 5 बदमाशों ने की जो महिलाओं के कपड़े पहनकर आए थे। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, यह साजिश हिस्ट्री शीटर रमेश लोहार को मारने के लिए रची गई थी। रमेश लोहार की मंगलवार को कोर्ट में पेशी थी। बदमाश महिलाओं के रूप में आए और फायरिंग कर दी। इसमें लोहार के साथ दो वकीलों को भी गोली लगी। वकीलों की हालत नाजुक बताई जा रही है।

जानकारी के मुताबिक, विचाराधीन कैदी रमेश लोहार समेत 3 लोगों पर फायरिंग की गई। बाद में रोहतक पीजीआई ले जाते समय एक शख्स की मौत हो गई। घटना सुबह करीब 11 बजे की है। हालांकि यहां पहले भी इस तरह की वारदात होती रही है। रमेश लोहार को जमानत मिली हुई है, लेकिन उसके अन्य साथियों को आज पेश किया जाना था। उसी समय पांच लोग महिलाओं के कपड़े पहनकर कोर्ट में दाखिल हुए। जैसे ही रमेश लोहार और अन्य लोग दाखिल हो रहे थे इन बदमाशों ने ताबड़ तोड़ फायरिंग कर दी। दूसरी तरफ पुलिस ने पूरे रोहतक को सील कर दिया है। पुलिस का दावा है कि वारदात में शामिल रहे लोगों को जल्द से जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

उधर यूपी के मुरादाबाद में एक सपा नेता ने यूपी के नए मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ का नारा लगाने पर 17 साल के लड़के को गोली मार दी। गोली लगने से उसकी मौत हो गई है। योगी आदित्य नाथ के सीएम पद की शपथ लेने के बाद लड़का ‘योगी जिंदाबाद’ के नारे लगा रहा था। यह घटना रविवार रात को मुरादाबाद के असमोली थाना क्षेत्र के मढ़ान गांव में घटित हुई।

लालबत्‍ती: सुविधा या वीआईपी कल्‍चर? जानिए विभिन्न राज्यों में क्या हैं नियम

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 जम्मू-कश्मीर: बडगाम जिले में आतंकियों और सुरक्षा बलों के बीच मुठभेड़, दो लोगों की मौत, 17 घायल
2 सुप्रीम कोर्ट ने सरकार से पूछा, क्या जम्मू-कश्मीर में हिंदुओं को दे दें अल्पसंख्यक का दर्जा?
3 श्रद्धालुओं से भरी बस पलटी, 30 घायल