कैप्टन के इस्तीफे के बाद खट्टर के मंत्री का सिद्धू पर तंज, बोले- जहं जहं पांव पड़े संतन के, तंह तंह बंटाधार

इस्तीफा देने के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि मेरा फैसला आज सुबह हो गया था, मैं बातचीत के लहजे से अपमानित महसूस करता था। बार बार विधायकों की बैठक होती थी। ऐसा माना गया कि मैं सरकार नहीं चला पा रहा हूं।

मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू पर जमकर भड़के और उन्होंने कहा कि अगर सिद्धू को मुख्यमंत्री बनाए जाने का फैसला लिया जाता है तो वे इसका विरोध करेंगे। (एक्सप्रेस फोटो: कमलेश्वर सिंह)

पिछले काफी दिनों से कांग्रेस विधायकों और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू की नाराजगी का सामना कर रहे कैप्टन अमरिंदर सिंह ने शनिवार को पंजाब के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया। शनिवार को अपने नजदीकी विधायकों के साथ मुलाक़ात के बाद उन्होंने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने का फैसला किया और राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित से मुलाकात करके इस्तीफा सौंपा। कैप्टन अमरिंदर सिंह के इस्तीफे के बाद हरियाणा सरकार के मंत्री अनिल विज ने सिद्धू पर तंज कसते हुए कहा कि जहं जहं पांव पड़े संतन के, तंह तंह बंटाधार।

हरियाणा की खट्टर सरकार मंत्री अनिल विज ने पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू पर तंज कसते हुए कहा कि कैप्टन अमरिंदर सिंह ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है, इसकी पटकथा तो उसी दिन लिख दी गई थी जिस दिन नवजोत सिंह सिद्धू कांग्रेस में शामिल हुए थे। क्योंकि जहं जहं पांव पड़े संतन के, तंह  तंह बंटाधार।

शनिवार को इस्तीफा देने के बाद कैप्टन ने मीडिया से बात करते हुए पार्टी के प्रति अपनी नाराजगी जाहिर की। कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि मेरा फैसला आज सुबह हो गया था, मैं बातचीत के लहजे से अपमानित महसूस करता था। मैंने सुबह कांग्रेस अध्यक्ष को अपने इस्तीफे की सूचना दे दी थी। बार बार विधायकों की बैठक होती थी। ऐसा माना गया कि मैं सरकार नहीं चला पा रहा हूं। साथ ही उन्होंने आगे की रणनीति के सवाल पर कहा कि फ्यूचर पॉलिटिक्स हमेशा एक विकल्प होती है और जब मुझे मौका मिलेगा मैं उसका इस्तेमाल करूंगा।

इस्तीफा के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू पर भी जमकर भड़के। अमरिंदर सिंह ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि नवजोत सिंह सिद्धू कुछ नहीं संभाल सकता, मैं उसे अच्छी तरह जानता हूं। वो पंजाब के लिए भयानक होने वाला है। ये कांग्रेस पार्टी का फैसला है अगर वे नवजोत सिंह सिद्धू पंजाब के मुख्यमंत्री का चेहरा बनाते हैं तो मैं इसका विरोध करूंगा क्योंकि ये राष्ट्रीय सुरक्षा का मुद्दा है।

इसके अलावा उन्होंने यह भी कहा कि मैं जानता हूं पाकिस्तान के साथ नवजोत सिंह सिद्धू के कैसे संबंध हैं। पाकिस्तान का प्रधानमंत्री उसका दोस्त है, जनरल बाजवा के साथ उसकी दोस्ती है। साथ ही उन्होंने मीडिया के सामने कहा कि रोज़ कश्मीर में हमारे जवान मारे जा रहे हैं। तो आपको क्या लगता है मैं नवजोत सिंह सिद्धू के नाम को स्वीकार करूंगा।

पढें राज्य समाचार (Rajya News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट