ताज़ा खबर
 

इमरान खान से बोले राजनाथ- आतंक से मुकाबले में सीरियस हो तो हम Indian Army पाकिस्तान भेजने को तैयार

Haryana Assembly Elections 2019: राजनाथ सिंह ने उन्हें चेतावनी देते हुए यह भी कहा कि वे विचार करें अन्यथा 1971 की तरह एक बार पाकिस्तान के टुकड़े हो सकते हैं। पहले जो पाकिस्तान दो टुकड़ों में बंटा था, अब वो कई टुकड़ों में बंट जाएगा।'

Author सोनीपत | Updated: October 14, 2019 12:45 PM
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह। फोटो सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस

Haryana Assembly Election 2019: चुनावी रैली में प्रचार करने पहुंचे रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Defence Minister Rajnath Singh) ने सोनीपत में बड़ा बयान दिया। उन्होंने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Pak PM Imran Khan) को साफ-साफ शब्दों में कहा कि यदि वाकई पाकिस्तान आतंक से मुकाबला करने को लेकर गंभीर है तो हम भारतीय सेना (Indian Army) को मदद के लिए भेजने को तैयार हैं।

इमरान को राजनाथ की चेतावनीः एएनआई के मुताबिक उन्होंने कहा, ‘मैं पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को सलाह देना चाहता हूं कि यदि आप वाकई आतंक के खात्मे को लेकर गंभीर हैं तो हम इसमें आपकी मदद के लिए तैयार हैं। अगर आप की मदद चाहते हैं तो हम वो भी भेजने को तैयार हैं।’ इसके साथ ही राजनाथ सिंह ने उन्हें चेतावनी देते हुए यह भी कहा कि वे विचार करें अन्यथा 1971 की तरह एक बार पाकिस्तान के टुकड़े हो सकते हैं।

‘पहले दो टुकड़े हुए थे, अब कई होंगे’: उन्होंने कहा, ‘मैं आज बेहद विनम्रता के साथ यह कहना चाहता हूं कि जिस तरह से वे सोचते हैं उसके हिसाब से पहले जो पाकिस्तान दो टुकड़ों में बंटा था, अब वो कई टुकड़ों में बंट जाएगा।’ उन्होंने कश्मीर मामले पर इमरान को फटकारते हुए कहा, ‘मैं इमरान खान का भाषण सुन रहा था जिसमें वो कह रहे थे कि जब तक कश्मीर आजाद नहीं हो जाता वो इसके लिए लड़ाई जारी रखेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि उनका देश कश्मीर मसले को अंतरराष्ट्रीय मंचों पर उठाता रहेगा। कश्मीर के बारे में भूल जाइये, इसके बारे में सोचना भी मत। मसला उठाने से कुछ नहीं होगा, कोई हम पर दबाव नहीं बना सकता।’

बढ़ती जा रही पाक की बौखलाहटः पुलवामा में 40 जवानों को शहीद करने वाले फिदायीन हमले के बाद से भारत और पाकिस्तान में संबंध अच्छे नहीं हैं। इसके बाद 5 अगस्त को जब मोदी सरकार ने कश्मीर को मिला विशेष राज्य का दर्ज हटा दिया और जम्मू-कश्मीर को केंद्र शासित प्रदेश बना दिया तो इससे पाकिस्तान की बौखलाहट और बढ़ गई।

‘हम पड़ोसी हैं, साथ चलना चाहते हैं’: राजनाथ सिंह ने यह भी कहा कि पाकिस्तान को मेरी सलाह है कि आतंक के मसले पर ईमानदारी से काम करे, आतंक को खत्म करे और भाईचारे को बढ़ाए। हम पड़ोसी हैं, हम चाहते हैं कि साथ चलें। यदि आप ईमानदारी के साथ आतंकवाद से नहीं लड़े तो मैं साफ-साफ कहता हूं कि भारत में ऐसी ताकतों से लड़ने की क्षमता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 उत्तराखंड के चमोली में खड्डे में गिरी जीप, आधा दर्जन से भी ज्यादा लोगों के मरने की आशंका
2 Mayawati का एक्शन: BSP के बिहार यूनिट के प्रभारी निष्कासित, यह था आरोप