ताज़ा खबर
 

बेअंत सिंह के पोते के सिर में गोली लगी, मौत

पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री बेअंत सिंह के पोते हरकिरत सिंह की मौत रविवार को गोली लगने से हो गई। हरकिरत सिंह के सिर पर गोली लगी है।

चंडीगढ़ | May 30, 2016 5:23 AM
हरकिरत सिंह के सिर पर गोली लगी है।

पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री बेअंत सिंह के पोते हरकिरत सिंह की मौत रविवार को गोली लगने से हो गई। हरकिरत सिंह के सिर पर गोली लगी है। यह मामला चंडीगढ़ स्थित उनके आवास का है। उनके परिवार ने दावा किया है कि लाइसेंसी रिवॉल्वर की सफाई के दौरान अचानक गोली चल गई और वह घायल हो गए। हरकिरत (41) को यहां पीजीआइएमईआर में भर्ती कराया गया जहां दोपहर को उनकी मौत हो गई।

उनके रिश्तेदार और लुधियाना से सांसद रवनीत सिंह बिट्टू ने बताया कि हरकिरत लंबे समय से अवसादग्रस्त थे और उन्होंने संकेत दिया कि संभवत: उन्होंने आत्महत्या की होगी। पुलिस ने कहा कि वह मामले की जांच कर रही है। सेक्टर तीन पुलिस थाने के प्रभारी नीरज सरना ने कहा, ‘हरकिरत को उनके सिर में गोली लगी’। उन्होंने कहा, ‘रविवार शाम परिवारवालों ने पुलिस से कहा कि हरकिरत यहां सेक्टर पांच में अपने निवास पर रिवॉल्वर की सफाई कर रहे थे, उसी दौरान उनके सिर में गोली लगी। उन्होंने दावा किया कि गोली अचानक चल गई थी’।
उन्होंने कहा, ‘जांच चल रही है। सोमवार को पीजीआइएमईआर या चंडीगढ़ के सेक्टर 16 के सरकारी अस्पताल के डॉक्टरों का एक बोर्ड पोस्टमार्टम करेगा’। इस घटना की खबर मिलने पर लुधियाना से चंडीगढ़ पहुंचे बिट्टू ने कहा कि लुधियाना में कोटली गांव के सरपंच हरकिरत कुछ महीने पहले सड़क हादसे का शिकार हुए थे और तब से उनकी तबीयत ठीक नहीं चल रही थी।

बिट्टू ने कहा, ‘पिछले कुछ समय से उनका अवसाद का इलाज चल रहा था। पिछले साल वह एक बड़े हादसे का शिकार हुए थे। उनके सिर में गहरी चोट लगी थी। कुछ समय के लिए वह कोमा में थे। ठीक होने के बाद वह अवसाद का शिकार हो गए। दवा चल रही थी पर कभी कभी गहरा अवसाद उनपर हावी हो जाता था’।

उन्होंने कहा, ‘रविवार सुबह वह झील पर घूमने गए थे। लौटने के बाद उन्होंने पत्नी से कहा कि वह स्नान करना चाहते हैं। पर कुछ ही मिनटों में उन्होंने खुद को गोली मार ली’। उन्होंने बताया कि हरकिरत के बड़े भाई और खन्ना से कांग्रेस विधायक गुरकिरत सिंह फिलहाल विदेश में हैं जबकि उनके पिता और पूर्व मंत्री तेज प्रकाश सिंह घटना के समय कहीं गए थे। बिट्टू ने कहा, ‘तेज प्रकाश रविवार सुबह उनसे मिले थे’।
हरकिरत के दादा बेअंत सिंह 1992 से 1995 तक पंजाब के मुख्यमंत्री रहे थे। 31 अगस्त 1995 को 73 वर्षीय मुख्यमंत्री बेअंत सिंह चंडीगढ़ में सिविल सचिवालय के प्रवेशद्वार पर हुए एक आत्मघाती हमले में मारे गए थे। सिख आतंकवादियों द्वारा किए गए उस हमले में 17 अन्य व्यक्ति भी मारे गए थे।

इसी बीच पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने हरकिरत के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है। पंजाब के पार्टी मामलों के प्रभारी कांग्रेस महासचिव शकील अहमद और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अमरिंदर सिंह ने भी शोक प्रकट किया है। पंजाब विधानसभा में विपक्ष के नेता चरणजीत सिंह चन्नी ने कहा, ‘हरकिरत बड़े ही नम्र और सौम्य स्वभाव के अच्छे इंसान थे’।

Next Stories
1 पंजाब: कार में बैठे थे नशे में धुत शख्‍स, मोस्‍ट वॉन्‍टेड गैंगस्‍टर के धोखे में पुलिस ने चला दी गोलियां
2 अदालत में पेश हुए दलेर मेंहदी, गैर-कानूनी तरीके से लोगों को विदेश ले जाने का आरोप
3 पंजाब: कैदी फेसबुक पर पोस्ट कर रहे जेल की PHOTOS, स्टेटस डाला- Feeling Fantastic
ये पढ़ा क्या?
X