ताज़ा खबर
 

बेटी की शादी में पुलिस ने बाप को क्यों पहना दी हथकड़ी, जानिए

अदालत ने अपने आदेश में कहा कि 23 मई को सुबह इन लोगों को पुलिस कस्टडी में शादी में शामिल होने के लिए ले जाया जाएगा, लेकिन उसी दिन शाम 6 बजे इन्हें जेल में वापस भेज दिया जाएगा।

Handcuffed father, Handcuffed brother, Jurisdictional police, Karnatak High Court, daughter's wedding, central prison in Vijayapura, Additional Sessions Judge, Banglore, Karnataka, Hindi newsसांकेतिक तस्वीर

बैंगलुरु के विजयपुरा में एक बाप जब अपनी बेटी की शादी में शरीक हुआ तो उसके हाथ में हथकड़ी लगे हुए थे। इस शख्स पर एक व्यक्ति की हत्या का आरोप है। और 49 साल का मनोहर मलाडे नाम का ये शख्स अपने दो बेटों अमोगंद (23) और सिद्देश्वर (21) के साथ केन्द्रीय कारा में बंद है। इस बीच मनोहर की बेटी की शादी हो रही थी। जब इनलोगों ने बेटी की शादी में शामिल होने के लिए सेशन कोर्ट से बेल मांगी तो अदालत ने इनकार कर दिया। लेकिन हाईकोर्ट ने इनकी गुहार सुन ली। हालांकि हाईकोर्ट ने भी इन्हें बेल नहीं दी लेकिन चंद घंटों के लिए बेटी की शादी में शामिल होने की इजाजत दे दी। अदालत ने अपने आदेश में कहा कि 23 मई को सुबह इन लोगों को पुलिस कस्टडी में शादी में शामिल होने के लिए ले जाया जाएगा, लेकिन उसी दिन शाम 6 बजे इन्हें जेल में वापस भेज दिया जाएगा।

अंग्रेजी वेबसाइट द टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक इन तीनों लोगों पर हत्या का मुकदमा चल रहा है। पुलिस के मुताबिक इन लोगों ने 19 सितंबर 2015 को महादेव नाम के शख्स पर हमला किया और पीट कर उसकी हत्या कर दी। इसी मामले में विजयपुरा सेशन कोर्ट में सुनवाई चल रही है। पुलिस के मुताबिक दोनों परिवारों के बीच संपत्ति को लेकर विवाद चल रहा था। महादेव की पत्नी ललिता ने इन तीनों पर मुकदमा दर्ज करवाया था।

हाईकोर्ट ने अपने फैसले में कहा था कि चूंकि अभी केस से जुड़े परिस्थितियों में कोई बदलाव नहीं हो पाया है इसलिए इन्हें बेल नहीं दिया जा सकता है, हालांकि इन्हें उचित पुलिस सुरक्षा में अपनी बेटी की शादी में शामिल होने की इजाजत दी जा सकती है। अदालत ने कहा कि विजयपुरा जेल के सुपरिंटेंडेंट और सेशन कोर्ट विजयपुरा अपने आपसी तालमेल के साथ 23 मई को इन तीनों को श्री संगमेश्वर मंदिर ले जाएंगे, जहां आरोपी की बेटी की शादी हो रही है, और शाम 6 बजे तक इन्हें फिर से जेल में बंद कर दिया जाएगा।

Next Stories
1 चेन्नई की अदालत ने राजद्रोह के मामले में एमडीएमके अध्यक्ष वाइको को दी जमानत, तीन अप्रैल से थे जेल में बंद
2 17 सर्जरी और एक रॉन्ग नंबर के बाद एसिड अटैक सर्वाइवर को मिला सच्चा प्यार, जानिए कैसे परवान चढ़ी मोहब्बत
3 मेजर गोगोई के खिलाफ सेना की जांच को उमर अब्दुल्ला ने बताया तमाशा, कहा जनता की अदालत मायने रखती है
ये पढ़ा क्या?
X