ताज़ा खबर
 

मर्डर केसः दीपिका ने कहा था- मैं हमारे बच्चों से प्यार करती हूं, मत मारो, फिर भी पति ने दे दिया था 8वीं मंजिल से धक्का

गुरुग्राम में हुए दीपिका मर्डर केस में विक्रम चौहान (35) पर अपनी पत्नी दीपिका की हत्या करने का आरोप है। पुलिस ने बताया कि पति विक्रम के द्वारा धक्का दिए जाने से पहले दीपिका ने आखिरी शब्द, "प्लीज मुझे मत मारो, मैं अपने बच्चों से प्यार करती हूं" कहे थे।

दीपिका मर्डर केस – गुरुग्राम फोटो सोर्स – इंडियन एक्सप्रेस

गुरुग्राम में हुए दीपिका मर्डर केस में पुलिस ने बताया कि 32 साल की दीपिका ने 27 अक्टूबर को अपने अपार्टमेंट की आठवीं मंजिल से कथित रूप से अपने पति विक्रम के द्वारा धक्का दिए जाने से पहले आखिरी शब्द कहे थे कि, “प्लीज मुझे मत मारो, मैं अपने बच्चों से प्यार करती हूं।” इस मामले में विक्रम चौहान (35) पर अपनी पत्नी दीपिका की हत्या करने का आरोप है। दीपिका की हत्या के वक्त उनकी चार साल बेटी और पांच महीने का बेटा घर में ही सो रहे थे।

गर्लफ्रेंड को लेकर विक्रम और दीपिका के बीच हुआ था झगड़ा

पुलिस ने कहा कि उनके पास विक्रम पर पर शक करने का एक और कारण यह भी था कि, दीपिका और विक्रम के बीच झगड़ा हुआ था, जिसमें उसकी कलाई पर खरोंच के में निशान भी आए थे। इस घटना के कुछ दिन बाद मेडिकल जांच के दौरान यह निशान मिले थे। पुलिस ने कहा कि उनकी जांच में पता चला है कि विक्रम का अपनी ही सोसाइटी में रहने वाली एक महिला शेफाली भसीन जिसे मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया है के साथ प्रेम-प्रसंग चल रहा था।

अपने कथित संबंध के चलते विक्रम ने कुछ महीने से अपनी पत्नी  दीपिका को मारने की योजना बनानी शुरू कर दी थी। डीएलएफ फेज-1 थानाध्यक्ष संजीव कुमार के अनुसार, “विक्रम के एक पड़ोसी ने अपना नाम उजागर न करने और जांच में शामिल न किए जाने की शर्त पर, ”वारदात में किसी अन्य व्यक्ति के शामिल होने की बात भी बताई, जिसने विक्रम को दीपिका को नीचे धक्का देने में मदद की थी, लेकिन अभी तक उसकी पहचान नहीं की जा सकी है।”

शेफाली के घर जाकर उससे झगड़ा करना चाहती थी दीपाली

एसएचओ ने बताया, “दीपिका ने 27 अक्टूबर को करवाचौथ का व्रत रखा था जिसकारण उसने विक्रम को उस दिन जल्दी घर लौटने के लिए कहा था। जब वह शाम को घर लौटा, तो दीपिका ने उसे बताया कि वह विक्रम के अपराधों से थक गई थी और शेफाली के घर जाकर उससे झगड़ा करना चाहती थी।” पुलिस ने बताया कि, इसी से बचने के लिए विक्रम सीढ़ियों के रास्ते तेजी से भाग कर दूसरे टावर में रहने वाली शेफाली के घर पहुंचा गया। वही इस मामले में एक पुलिस अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर कहा, विक्रम ने इस घटनाक्रम को लेकर शेफाली को मैसेज भेजकर अलर्ट भी कर दिया था। “उसने सीसीटीवी कैमरों में आने के डर से लिफ्ट से न जाने का निर्णय लिया था।

माता-पिता के जाने के बाद 8वीं मंजिल से दिया धक्का 

पुलिस अधिकारी ने बताया, विक्रम ने करीब रात 9.30 बजे तक अपने माता-पिता के जाने करने का इंतजार किया। उसके बाद दीपिका को बालकनी में बुलाया और वहां से उसे 9.37 बजे धक्का दे दिया। पड़ोसियों ने बताया कि, विक्रम नीचे की तरफ भागते हुए मदद के लिए चिल्ला रहा था। वे उसे एक निजी अस्पताल ले गए जहां डॉक्टरों ने दीपिका को मृत घोषित कर दिया। फ़िलहाल इस मामले में पुलिस विक्रम और उसकी गर्लफ्रेंड शेफाली को गिरफ्तार कर चुकी है। विक्रम को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App