ऊपर से गिरी चीज को सहेज कर रख रहे थे गुरुग्राम के लोग, जब सच्‍चाई पता चली तो उड़ गए होश - Gurugram People were Wondering After Dumping A Rock From Sky - Jansatta
ताज़ा खबर
 

ऊपर से गिरी चीज को सहेज कर रख रहे थे गुरुग्राम के लोग, जब सच्‍चाई पता चली तो उड़ गए होश

जहां गांव के बड़े-बूढ़े अपना-अपना अंदाज लगा रहे थे कि वह क्या है, वहीं, बच्चे कह रहे थे कि यह परग्रहियों का कोई तोहफा है। एब बच्चे ने कहा, ‘‘यह परग्रहियों का दिया हुआ सफेद, पवित्र पत्थर है।’’

Author गुरुग्राम | January 22, 2018 2:56 PM
इस चित्र का इस्तेमाल प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है।

गुरुग्राम जिले के फाजिलपुर बादली गांव में आसमान से गिरी एक चीज ने लोगों को डरा दिया। आसमान से चीज गिरने और उसके साथ तेज आवाज आने से डरे लोगों को लगा कि वह कोई बड़ा पत्थर, मिसाइल, बम या कोई उल्का है। राजबीर यादव गेहूं के खेत में था जब उसने जमीन पर ‘बड़ा सा पत्थर’ गिरते देखा और उसके साथ ही वहां एक फुट गहरा गड्ढा बन गया। एक दूसरे गांववाले सुखबीर सिंह ने कहा कि डरा-घबराया हुआ यादव गांव के सरपंच की तरफ भागा। खबर जंगल में आग की तरह फैल गई और कुछ मिनट बाद घटनास्थल पर गांववालों की भीड़ जमा हो गई लेकिन बाद में पता चला कि वह इंसान का मल था।

जहां गांव के बड़े-बूढ़े अपना-अपना अंदाज लगा रहे थे कि वह क्या है, वहीं, बच्चे कह रहे थे कि यह परग्रहियों का कोई तोहफा है। एब बच्चे ने कहा, ‘‘यह परग्रहियों का दिया हुआ सफेद, पवित्र पत्थर है।’’ उसने कहा, ‘‘’कोई मिल गया’ के जादू (परग्रही किरदार) के पास ऐसा ही पत्थर था।’’ पटौदी के उपसंभागीय मजिस्ट्रेट (एसडीएम) विवेक कालिया ने पीटीआई को बताया कि लोग उसके टुकड़े अपने घर ले गए और संभालकर फ्रिज में रख दिया। कुछ लोग जिला प्रशासन के पास गए और कालिया के नेतृत्व में मौसम विभाग एवं राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के अधिकारियों की एक टीम बनाई गई।

उन्होंने बताया कि टीम ने पाया कि गांववाले जिसे परग्रहियों का तोहफा बता रहे थे, वह दरअसल ‘ब्लू आइस’ है। ‘ब्लू आइस’ विमान के शौचालय से निकलने वाले जमे हुए अपशिष्ट को कहते हैं। कालिया ने कहा, ‘‘यह किसी विमान से बीच हवा में बाहर निकाला गया मानव मल प्रतीत होता है। फॉरेंसिक टीम ने इसका पता लगाने के लिए एक नमूना भोंडसी स्थित प्रयोगशाला में भेजा है। सोमवार तक इसकी रिपोर्ट आ जाएगी।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App