ताज़ा खबर
 

भजन-कीर्तन से दूर हनीप्रीत, 20 रुपये दिहाड़ी कमा रहे राम रहीम! जानें जेल में कैसे कट रही दोनों की जिंदगी

गुरमीत रहीम सिंह इंसा और उनकी मुंहबोली बेटी हनीप्रीत का जीवन सलाखों के पीछे किस प्रकार कट रहा है, इसे लेकर ताजा जानकारी सामने आई है। राम रहीम और हनीप्रीत दोनों ने अब जेल में रहने की आदत डाल ली है।

हनीप्रीत और गुरमीत राम रहीम की फाइल फोटो।

गुरमीत रहीम सिंह इंसा और उनकी मुंहबोली बेटी हनीप्रीत का जीवन सलाखों के पीछे किस प्रकार कट रहा है, इसे लेकर ताजा जानकारी सामने आई है। राम रहीम और हनीप्रीत दोनों ने अब जेल में रहने की आदत डाल ली है। हनीप्रीत से जेल में मिलने पहुंचे उनके एक करीबी ने नाम न जाहिर करने की शर्त पर इंडिया टुडे को जानकारियां दीं। कहा जा रहा है कि जेल के भीतर हनीप्रीत अकेले रहना पसंद करती हैं और भजन कीर्तन से दूर रहती है। शुरू में हनीप्रीत को जेल का खाना अच्छा नहीं लगता था, लेकिन अब उन्हें इस खाने के साथ दिक्कत नहीं होती है। जेल प्रशासन पर पहले आरोप लगते रहे हैं कि वह हनीप्रीत को घर का खाना खाने दे रहा था, लेकिन मीडिया की सुर्खियों में मामला आने पर घर के खाने की छूट बंद कर दी गई। हनीप्रीत यह दावा करती हैं कि वह आधात्यिक हैं लेकिन जेल में भजन-कीर्तन को नजरअंदाज करती हैं। वह तन्हाई में रहना पसंद करती हैं और किसी कैदी के साथ बात करते हुए उन्हें देखा जाना दुर्लभ है। चूंकि हनीप्रीत एक विचाराधीन कैदी है, इसलिए उन्हें अपनी पसंद के कपड़े पहनने की छूट दी गई है। अदालत में पेशी के दौरान हनीप्रीत को डिजायनर शूट पहने देखा जाता है। हनीप्रीत राम रहीम के मामले में हिंसा भड़काने के आरोपों में सजा काट रही हैं।

हनीप्रीत को अंबाला सेंट्रल जेल में रखा गया है जबकि राम रहीम रोहतक के सुनारिया जेल में सजा काट रहे हैं। दो साध्वियों से रेप मामले में 20 साल की सजा भुगत रहे गुरमीत राम रहीम को कैदियों वाली वर्दी दी गई है। जेल के अंदर राम रहीम अनुशासन में काम करते हैं और अच्छा व्यवहार करते देखे गए हैं। उन्हें अभी जेल के भीतर नौसिखिया मजदूर माना जाता है और 20 रुपये की दिहाड़ी मिलती है। अभी तक राम रहीम को रसोई के लिए बने बगीचे में सब्जियां उगाते हुए देखा गया है। नियमित तौर पर कैदियों वाला सफेद कुर्ता और पायजामा पहनने वाले राम रहीम की आठ महीनों में दाढ़ी और बाल ग्रे रंग के हो गए हैं। हाल ही में उनकी मां, पत्नी और बेटे उनसे मिलने आए थे।

जेल प्रशासन ने राम रहीम के खाते में हर महीने 5000 रुपये जमा करने की छूट दी है, जिससे वह जेल की कैंटीन से फल और समोसा जैसे स्नैक्स खरीदते हैं। डेरा ने हाल ही में लखनऊ के दो वकीलों तनवीर अहमद मीर और ध्रुव गुप्ता को राम रहीम के बड़े पैमाने पर करीब 166 पुरुषों तो जबरन बधिया कराने के मामले में बचाव के लिए रखा है। राम रहीम के खिलाफ हत्या दो मामलों की सुनवाई भी पंचकुला में सीबीआई की विशेष अदालत में चल रही है। राम रहीम के वकील मीर और गुप्ता आरुषि हत्याकांड मामले में तलवार दंपति के वकील रह चुके हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App