ताज़ा खबर
 

राजस्थानः आरक्षण की जंग के बीच यूं नाच-गाकर वक्त बिता रहे हैं गुर्जर, वायरल हुआ बुजुर्गों का डांस

वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है जिसमें कुछ लोग स्थानीय गीतों पर नृत्य कर रहे हैं। यह वीडियो मलारना डूंगर का बताया जा रहा है।

सवाईमाधोपुर में शनिवार सुबह मकसूदन पुरा स्थित मलारना डूंगर स्टेशन के पास अस्थाई तंबू लगाकर रेल पटरी पर प्रदर्शन करते गुर्जर। (फोटोः ANI)

राजस्थान में गुर्जर आरक्षण आंदोलन के चलते जहां आम जनजीवन बुरी तरह से अस्त-व्यस्त हो गया है वहीं आंदोलन में जुटे लोग नाच-गाकर टाइम पास रहे हैं। एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है जिसमें कुछ लोग स्थानीय गीतों पर नृत्य कर रहे हैं। यह वीडियो मलारना डूंगर का बताया जा रहा है। दरअसल राज्य में गुर्जर पांच फीसदी आरक्षण की मांग को लेकर धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। सवाई माधोपुर से शुरू हुआ ये आंदोलन धौलपुर, भरतपुर समेत राज्य के कई जिलों में फैल चुका है। राज्य में सड़क और रेल यातायात पर इसका खासा असर पड़ा है।

चरमराया रेल यातायातः गुर्जर आरक्षण आंदोलन के चलते सैकड़ों ट्रेनें प्रभावित हुई है। सवाई माधोपुर जंक्शन दिल्ली-मुंबई रेल ट्रैक पर कोटा के पास स्थित है। ऐसे में दिन-भर में कई दर्जन ट्रेनें यहां से गुजरती हैं। ट्रेनों को डायवर्ट, कैंसिल और री-शिड्यूल किया जा रहा है। आंदोलन के चलते रविवार को राज्य में होने वाली कर्मचारी चयन बोर्ड की परीक्षाओं को भी कैंसिल कर दिया गया था।

बैंसला और सीएम के बयानः धौलपुर में रविवार को प्रदर्शनकारियों और राजस्थान पुलिस के बीच जमकर झड़प भी हुई थी। इस दौरान कई वाहनों को भी फूंक दिया गया। इस आंदोलन को लेकर जहां गुर्जर नेता किरोड़ी सिंह बैंसला कह चुके हैं कि वे पांच फीसदी आरक्षण मिलने तक नहीं हटेंगे। वहीं राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पल्ला झाड़ते हुए गेंद केंद्र के पाले में डालते दिखे। उन्होंने गुर्जर समुदाय से रेल ट्रैक से हटने की अपील करते हुए कहा कि आरक्षण देने के लिए संविधान में संशोधन जरूरी है ऐसे में उन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बात करनी चाहिए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App