ताज़ा खबर
 

गुजरात: सांप्रदायिक तनाव में बदला छुट्टे पैसों का विवाद, हिंसा के बाद सुरक्षाबल तैनात

एसपी ने कहा, 'हमने दोनों समुदायों के नेताओं की मौजूदगी में पीस कमिटी की बैठक करवाई है। युवकों की गलतफहमी भी दूर करने की कोशिश की गई। रमजान होने की वजह से मुस्लिम युवक भी बड़ी तादाद में मौजूद थे। इलाके में अब शांति है।'

May 18, 2018 7:46 AM
वडोदरा के वाघोडिया में 16 मई को इसी जगह पर घटना हुई थी। (एक्सप्रेस फोटोः भूपेंद्र राणा)

गुजरात के वडोदरा में छुट्टे पैसों के मामूली विवाद के बाद हुए सांप्रदायिक टकराव के मामले में दोनों समुदाय के आठ लोगों को गुरुवार को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। घटना बुधवार रात की है। गिरफ्तार लोगों पर दंगे और संपत्ति को नुकसान पहुंचाने के मामले में केस दर्ज हुआ है। वाघोडिया कस्बे में कुछ हिंदू युवकों का एक मुस्लिम सोडा विक्रेता से हुए झगड़े के बाद यह टकराव हुआ। पुलिस का कहना है कि रमजान की पहली रात होने की वजह से इलाके में बहुत ज्यादा तादाद में मुस्लिम मौजूद थे। इसकी वजह से ही कुछ गलतफहमियां हुईं और संघर्ष की वजह बनी।

वाघोडिया कस्बा वडोदरा शहर से करीब 35 किमी दूर स्थित है। घटना के बाद इलाके में भारी पुलिसबल तैनात है। पुलिस के मुताबिक, घटना रात साढ़े दस बजे के करीब हुई। हिंदू युवकों का एक समूह सोडा पीने के लिए एक मुस्लिम दुकानदार के पास गया। पुलिस के मुताबिक, दुकानदार और उन लड़कों में फुटकर पैसों को लेकर विवाद हो गया।

एसपी सौरभ तोलुम्बिया ने कहा, ‘शुरुआत में झगड़ा लड़कों और दुकानदार के बीच था। इसमें और कोई शामिल नहीं था। हालांकि, रमजान की पहली रात होने की वजह से इलाके में मुस्लिम बड़ी तादाद में मौजूद थे। इससे लड़कों को लगा कि उनकी कोई सुनने वाला नहीं है। इसलिए उन्होंने अपने दोस्तों को बुला लिया। कुछ देर बाद, दोनों समुदायों की ओर से भीड़ इकट्ठी हो गई और संघर्ष शुरू हो गया।’

भीड़ ने एक दूसरे पर जमकर पत्थर फेंके। वारदात की खबर मिलते ही पुलिस की मदद करने क्राइम ब्रांच और स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप के कर्मी भी मौके पर पहुंचे। बाद में भीड़ छंट गई और इलाके में भारी सुरक्षाबल तैनात कर दिया गया। एसपी के मुताबिक, गुरुवार को दोनों समुदायों के बीच सुलह कराने के मकसद से एक बैठक कराई गई ताकि गलतफहमियां दूर की जा सकें।

एसपी ने आगे इस संबंध में कहा, ‘हमने दोनों समुदायों के नेताओं की मौजूदगी में पीस कमिटी की बैठक करवाई है। युवकों की गलतफहमी भी दूर करने की कोशिश की गई। रमजान होने की वजह से मुस्लिम युवक भी बड़ी तादाद में मौजूद थे। इलाके में अब शांति है।’

Next Stories
1 लड़की ने किया बात करने से मना तो सनकी आशिक ने गला रेत मार डाला
2 जम्मू-कश्मीर बीजेपी अध्यक्ष की हिज्बुल आतंकी सरगना सैयद सलाहुद्दीन को सलाह- घाटी में आकर चुनाव लड़ो
3 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जम्मू-कश्मीर दौरे से पहले जेकेएलएफ चीफ गिरफ्तार, मलिक ने किया घाटी बंद का आह्वान
यह पढ़ा क्या?
X