ताज़ा खबर
 

गुजरात: पुलिस कस्टडी में महिला का यौन उत्पीड़न, सब इंस्पेक्टर समेत 3 पर केस

पीड़िता दो माह पूर्व पुलिस थाने अपने पति-ससुरालियों के खिलाफ शिकायत करने पहुंची थी। पुलिस ने तब उसकी शिकायत दर्ज करने से मना कर दिया था। पुलिसकर्मी महिला को उस दौरान दूसरे कमरे में ले गए थे, जिसके बाद उन्होंने उसका यौन शोषण किया था।

प्रतीकात्मक तस्वीर।

गुजरात में पुलिस हिरासत में एक महिला के साथ यौन उत्पीड़न किए जाने का मामला सामने आया है। गुरुवार (तीन मई) को इसी मामले में सब इंस्पेक्टर समेत तीन पुलिस वालों पर केस दर्ज किया गया। आरोप है कि तीनों पुलिसकर्मियों ने करीब दो महीने पहले पुलिस थाने में एक 40 वर्षीय महिला के साथ छेड़खानी की थी। आरोपी पुलिसकर्मियों की पहचान भाभर पुलिस थाने के सब इंस्पेक्टर जसवंत चौधरी व कॉन्स्टेबल रमेश चौधरी और सोमचंद परमार के रूप में हुई है। भारतीय दंड संहिता की धारा 323, 354, 354बी, 504 और 166 के अंतर्गत इन तीनों पुलिसकर्मियों के खिलाफ मामला दर्ज हुआ है।

मामला सामने आने के बाद तीनों का ट्रांसफर कर दिया गया है। 27 अप्रैल को आरोपी पुलिसकर्मियों के खिलाफ जांच का आदेश दिया गया था। कार्रवाई का यह आदेश तब आया, जब गुजरात हाईकोर्ट ने मामले में हस्तक्षेप किया था। कोर्ट ने एसपी को इस मामले में एफआईआर दर्ज करने के लिए कहा था।

क्या है मामला?: पीड़िता दो महीने पहले भाभर पुलिस थाने अपने पति और ससुरालियों के खिलाफ शिकायत देने पहुंची थी। महिला का आरोप था कि वे लोग उसे मानसिक और शारीरिक तौर पर टॉर्चर करते हैं। पुलिस ने तब उसकी शिकायत दर्ज करने से मना कर दिया था। दावा है कि पुलिसकर्मियों ने उसे शाम तक थाने में ही रोक कर रखा था। बाद में पुलिसकर्मी उसे दूसरे कमरे में ले गए थे, जहां चौधरी और परमार ने उसका यौन उत्पीड़न किया। घटना के दौरान मदद के लिए वह रमेश को दरवाजा खोलने के लिए बुला रही थी।

आपको बता दें कि 20 अप्रैल को अहमदाबाद के गुजरात नैशनल लॉ यूनिवर्सिटी कैंपस में यौन उत्पीड़न का मामला उजागर हुआ था। यूनिवर्सिटी में लड़कियों की सुरक्षा को लेकर वहां पर सवाल खड़े हुए थे। छात्रा का इस मामले में आरोप था कि उसके सीनियर ने जरूरी काम का झांसा देकर उसे बुलाया था, जिसके बाद उससे छेड़खानी की गई थी। वहीं, एक अन्य छात्रा ने सुरक्षाकर्मियों के हेड पर लगातार भद्दी टिप्पणियां करने का आरोप लगाया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App