ताज़ा खबर
 

VIDEO: पानी मांगने पर मुंह पर रख दिया जूता! महिला एनसीपी नेता ने सुनाई बीजेपी विधायक की क्रूरता की कहानी

महिला ने बताया कि पानी मांगने पर विधायक और उनके लोगों ने मारपीट शुरू कर दी। सड़क पर गिराकर लात-घूसों से पीटा। पति बचाने के लिए आए तो उन्हें भी डंडों से पीटा गया।

Author नई दिल्ली | June 3, 2019 12:29 PM
महिला की शिकायत के निवारण के बजाय विधायक और उसके सहयोगी ने महिला से बदतमीजी की, बीच सड़क पर गिराकर लात घूसों से उसे खूब पीटा। उसे थप्पड़ मारे। महिला चीखती रही चिल्लाती रही मगर किसी को रहम नहीं आया। सोशल मीडिया में लोगों ने विधायक की तुलना गुंडे से की है। (फोटो सोर्स एएनआई)

गुजरात के नरोडा में बीच सड़क पर भाजपा विधायक की मारपीट का शिकार हुई महिला ने मीडिया में आकर अपना दुख साझा किया है। उन्होंने बताया कि पानी मांगने पर विधायक और उनके लोगों ने मारपीट शुरू कर दी। सड़क पर गिराकर लात-घूसों से पीटा। पति बचाने के लिए आए तो उन्हें भी डंडों से पीटा गया। पीड़िता नीतू तेजस्विनी ने एक न्यूज चैनल को बताया, ‘उन्होंने (भाजपा विधायक और उनके सहयोगियों) मुझे नीचे गिरा दिया और लाते ही लाते मारने शुरू कर दीं। मेरे मुंह पर अपना जूता रख दिया। पैरों पर जोर से लाते मारी गईं। हॉकियों से हमला किया गया। उन्होंने मुझे बहुत बुरी तरह पीटा।’

पीड़िता ने बताया कि दूर खड़े पति ने जब उन्हें बचाने की कोशिश की तो भाजपा विधायक के आठ-दस सहयोगियों ने अंदर से डंडे निकालकर उन्हें पीटना शुरू कर दिया। साथ में जो अन्य महिलाएं थीं उन्हें भी खूब पीटा गया। पूछने पर कि जो विधायक मारपीट कर रहा है उससे क्या उम्मीदें होंगी अब? पीड़िता ने कहा, ‘मेदी सरकार से अपील है…क्योंकि वो कहते हैं कि भाजपा में नारी सुरक्षित है। वो बताएं कि कहां नारी सुरक्षित है। आम लोगों की बात अलग है उनके (पीएम मोदी) खुद के लोग इस तरह हरकत कर रहे हैं। विधायक होकर धक्का मार रहे हैं, गंदी-गंदी गालियां दे रहे हैं। तो वो बताएं भाजपा के राज में कहां नारी सुरक्षित है।’ पीड़िता ने आगे बताया कि उन्होंने आरोपी विधायक के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है।

वहीं न्यूज एजेंसी एएनआई की खबर के मुताबिक पीड़िता का नाम नीतू तेजस्विनी है, जो प्रदेश के नरोदा में एनसीपी की नेता हैं। उन्होंने बताया कि पिछले 23 सालों से इलाके में भाजपा बलराम थवानी के परिवार का ही राज है। इनके परिवार के लोग ही यहां राज करते आए हैं। इसलिए वो यहां किसी को भी दबा सकते हैं। एक महिला पर अत्याचार कर सकते हैं। मैंने सिर्फ थोड़ी सी आवाज उठाई और पानी की मांग की तो मेरे साथ इस तरह का व्यवहार किया गया।

गौरतलब है कि मामले में आरोपी भाजपा विधायक बलराम ने भी प्रतिक्रिया दी हैं। उन्होंने कहा कि वो भावनाओं में बह गए थे और अपनी गलती स्वीकार करते हैं। विधायक ने कहा, ‘मैंने ऐसा जानबूझकर नहीं किया। मैं पिछले 22 सालों से राजनीति में हूं। मगर इस तरह की घटना कभी नहीं हुई। मैं महिला से सॉरी कहूंगा।’ खबर की पूरी डिटेल जानने के लिए यहां क्लिक करें

यहां देखें वीडियो-

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X