ताज़ा खबर
 

गुजरात में स्मृति ईरानी पर चूड़ियों से हमला, मंत्री बोलीं- महिला पर आक्रमण करने के लिए पुरुष को भेजना गलत

सोमवार को गुजरात के अमरेली शहर में स्मृति ईरानी पर एक किसान ने कर्ज माफी की मांग करते हुए चूड़ियां फेकी थीं।

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी। (Source: EXPRESS ARCHIVE)

गुजरात में किसान द्वारा अपने ऊपर चूड़ियां फेंकने की घटना पर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने जवाब दिया है। स्मृति ईरानी ने इस घटना को कांग्रेस पार्टी की साजिश करार देते हुए कहा है कि इन लोगों ने पुरुष को भेजा एक महिला पर आक्रमण करने के लिए। आपको बता दें कि सोमवार को गुजरात के अमरेली शहर में स्मृति ईरानी पर एक किसान ने कर्ज माफी की मांग करते हुए चूड़ियां फेकी थीं। केतन कासवाला नाम के इस 20 वर्षीय किसान ने केंद्रीय मंत्री पर उस वक्त चूड़ियां फेंकीं जब वह अमरेली में एक कार्यक्रम को संबोधित कर रही थीं। इस घटना के तुरंत बाद पुलिस ने कासवाला को हिरासत में ले लिया। मीडिया रिपोर्ट्स में बताया गया कि बाद में स्मृति ईरानी के कहने पर पुलिसवालों ने कासवाला को रिहा भी कर दिया।

मंगलवार को इस पूरी घटना को लेकर स्मृति ईरानी ने अपनी बात सामने रखी है। केंद्रीय मंत्री ने कहा है कि गुजरात में चुनाव आ रहे हैं इसलिए इस तरह के करतबों की मुझे अपेक्षा है। स्मृति ईरानी ने इस पूरे मामले का ठीकरा कांग्रेस पार्टी पर फोड़ते हुए कहा कि इन लोगों ने पुरुष को भेजा एक महिला पर आक्रमण करने के लिए, उनकी ये रणनीति थोड़ी गलत है।

HOT DEALS
  • Apple iPhone SE 32 GB Gold
    ₹ 25000 MRP ₹ 26000 -4%
    ₹0 Cashback
  • ARYA Z4 SSP5, 8 GB (Gold)
    ₹ 3799 MRP ₹ 5699 -33%
    ₹380 Cashback

आपको बता दें कि पिछले कुछ दिनों से देश के कई राज्यों में किसान कर्ज माफी को लेकर आंदोलन कर रहे हैं। मध्य प्रदेश में आंदोलन के दौरान पुलिस की गोली लगने से 5 किसानों की मौत भी हो गई थी, जिसके बाद माहौल काफी तनावपूर्ण हो गया था। इस दुखद घटना के बाद मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अनशन पर भी बैठे थे। किसानों में कर्जमाफी के लिए बढ़ते रोष को देखते हुए कई राज्यों के मुख्यमंत्री इसपर विशेष रणनीति बना रहे हैं। इसी रणनीति के तहत सोमवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात भी की थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App