ताज़ा खबर
 

गुजरात में नरेंद्र मोदी सरकार के सशस्त्र तख्तापलट की थी साजिश!

गुजरात सरकार का तख्तापलट कराने की साजिश रचने के अलावा व्यंकटम ने 2003 में आंध्र प्रदेश के तत्कालीन मुख्यमंत्री चंद्र बाबू नायडू की हत्या करने की भी योजना बनाई थी।

narendra modi, pm modi, pm modi condems haryana violence, dera sacha sauda, ram rahim, ram rahim singh, ram rahim case, ram rahim verdict, dera sacha sauda live, dera sacha sauda news, dera sacha sauda case, राम रहीम, डेरा सच्चा सौदा, Gurmeet Ram Rahim Singh, dera sacha sauda news in hindi, ram rahim dera sacha sauda, ram rahim case news, dera sacha sauda case faisla, dera sacha sauda faisla, dera sacha sauda verdict, Gurmeet Ram Rahim Singh news, news updatesप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। (फोटो-पीटीआई)

एटीएस ने खुलासा किया है कि जब गुजरात में नरेंद्र मोदी की सरकार थी तब सशस्त्र तख्तापलट की साजिश रची गई थी। सात साल पहले गैरकानूनी गतिविधि निरोधक अधिनियम के तहत सूरत में एक केस के मामले में भगोड़ा घोषित किए गए सीपीआई का सदस्य और आंध्र प्रदेश का जोनल हेड श्रीरामुला व्‍यंकटम को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। एटीएस के अधिकारियों ने बताया कि व्यंकटम साल 2010 में सूरत आया था। इस दौरान यहां रहते हुए व्यंकटम ने बाहर से आए मजदूरों और स्थानीय मजदूरों को सरकार के खिलाफ भड़काना शुरु किया। वह करीब दस महीने तक गुजरात में रहा।

गुजरात और महाराष्ट्र में अपनी हानिकारक गतिविधियों को छिपाने के लिए व्यंकटम ने कई अपंजीकृत संगठनों का गठन किया था। इस तरह उसने करीब 90 से 100 संगठन बना लिए थे ताकि कोई उसपर शक न कर सके। वह अपने कैडर्स को जंगल में भेजकर हथियारों के साथ उन्हें ट्रेनिंग दिलवाता था। गुजरात सरकार का तख्तापलट कराने की साजिश रचने के अलावा व्यंकटम ने 2003 में आंध्र प्रदेश के तत्कालीन मुख्यमंत्री चंद्र बाबू नायडू की हत्या करने की भी योजना बनाई थी। टाइम्स ऑफ इंडिया के अनुसार व्यंकटम छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र, झारखंड और आंध्र प्रदेश में नक्सली गतिविधियों के लिए पैसों की उगाही भी किया करता था।

2007 में व्यंकटम को ओडिशा में गिरफ्तार किया था लेकिन वह ज्यादा समय तक जेल में नहीं रहा क्योंकि उसके साथियों ने जिला कलेक्टर का अपहरण कर लिया और फिर मजबूरी में पुलिस को उसे रिहा करना पड़ा था। नक्सली गतिविधियों में शामिल होने के केस में एटीएस ने व्यंकटम के अलावा 24 अन्य लोगों को भी गिरफ्तार किया है। इनमें से 20 लोगों को पुलिस पहले ही गिरफ्तारी कर चुकी थी। एटीएस अधिकारी ने बताया कि सबसे पहले हमने एक महीने पहले तुषार भट्टाचार्य को गिरफ्तार किया था और व्यंकटम को गिरफ्तार किया गया है। अधिकारी ने बताया कि काबोद गांधी और सीमा ईरानी अभी भी फरार हैं लेकिन ईरानी के पति को हम पहले ही गिरफ्तार कर चुके हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 द्वारका में भगवान कृष्ण की पूजा कर राहुल गांधी ने किया गुजरात दौरे का श्रीगणेश
2 अल्पसंख्यक महिलाओं को गाली देने का वीडियो बनाया तो कर दी गई हत्या
3 मायावती का गुजरात में चुनावी शंखनाद, बोलीं- बीजेपी राज में दलितों को नहीं है कोई अधिकार, बसपा जीती तो नहीं होगी उना जैसी घटना
ये पढ़ा क्या?
X