ताज़ा खबर
 

कांग्रेस MLA अल्पेश ठाकोर ने कलाकारों पर जमकर लुटाए नोट, वायरल हो रहा वीडियो

मेवाणी के करीबियों ने मीडिया को बताया कि ये कार्यक्रम राधनपुर में महिला हॉस्टल के निर्माण के लिए फंड जुटाने के मकसद से आयोजित किया गया था। इस कार्यक्रम में अल्पेश ठाकोर के साथ ही कई अन्य वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं ने भी शिरकत की थी।

गुजरात में एक जनसभा को संबोधित करते हुए ओबीसी नेता और कांग्रेस विधायक अल्पेश ठाकोर। Express Photo by Javed Raja.

सोशल मीडिया पर लगातार एक वीडियो क्लिप वायरल हो रहा है। इस वीडियो क्लिप में ठाकोर समुदाय के नेता और कांग्रेस विधायक अल्पेश ठाकोर एक जनसभा में नोट उछालते हुए दिख रहे हैं। ये क्लिप रविवार (17 जून) को सोशल मीडिया पर वायरल हुई थी। वायरल वीडियो में पाटन जिले की राधनपुर सीट से विधायक अल्पेश ठाकोर लोक संगीत कार्यक्रम ‘दायरो’ में 10 रुपये के नोट उड़ाते हुए दिख रहे हैं। इस कार्यक्रम में लोकगायिका गीता रबारी ने कार्यक्रम पेश किया था। ये कार्यक्रम शनिवार देर रात पाटन जिले के राधनपुर कस्बे में भाभर रोड पर स्थित सदाराम कुमार छात्रालय में आयोजित किया गया था।

ओबीसी नेता मेवाणी के करीबियों ने मीडिया को बताया कि ये कार्यक्रम राधनपुर में महिला हॉस्टल के निर्माण के लिए फंड जुटाने के मकसद से आयोजित किया गया था। इस कार्यक्रम में अल्पेश ठाकोर के साथ ही कई अन्य वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं ने भी शिरकत की थी। गुजरात प्रदेश कांग्रेस कमिटी के प्रमुख अमित चवड़ा इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर आए थे। करंसी नोट पर रिजर्व बैंक आॅफ इंडिया की गाइडलाइन के मुताबिक, नोटों का इस्तेमाल माला बनाने, सजाने और किसी कार्यक्रम में सजावट के मकसद से भी नहीं किया जा सकता है।

इस पूरे मामले पर ठाकोर ने कहा,”मुझे पूरे विवाद और रिजर्व बैंक के दिशानिर्देशों की जानकारी है। लेकिन ये काम लड़कियों की शिक्षा के भले काम के लिए किया गया था। पहले दायरा कार्यक्रम में लोग रुपये प्रसिद्धि पाने के लिए बरसाते थे। लेकिन ​मैंने ये काम लड़कियों की शिक्षा के लिए किया है। मुझे इस बात की जानकारी है कि मेरे काम से कुछ विवाद हुआ है। लेकिन मैं ये भरोसा दिलाना चाहता हूं कि वहां पर बरसाया गया हर नोट लड़कियों की शिक्षा के काम आएगा।”

जब अल्पेश से रिजर्व बैंक की गाइडलाइन के बारे में सवाल किए गए तो उन्होंने कहा,”मुझे ज्यादा या थोड़ा पता है। लेकिन मैंने सिर्फ 10 रुपये के करंसी नोट ही उड़ाए थे। कार्यक्रम में उस वक्त करीब 15 विधायक मौजूद थे। वहीं इस मामले पर कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अमित चवड़ा थोड़े नाराज दिखे। उन्होंने कहा,”मैंने कार्यक्रम को उसी वक्त छोड़ दिया जब ठाकोर ने रुपये बरसाने शुरू किए थे। कार्यक्रम का उद्देश्य अच्छा होने के बाद भी कार्यक्रम में जैसे नोट बरसाए गए वह तरीका सही नहीं था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App