ताज़ा खबर
 

गुजरात यूनिवर्सिटी ने रद्द किया कॉमेडियन कुणाल कामरा का शो, वजह- ‘एंटी नेशनल कंटेंट’ की मिली शिकायत

ये कार्रवाई उप-कुलपति को विश्वविद्यालय के 11 पूर्व छात्रों के द्वारा लिखी गई चिट्ठी मिलने के बाद की गई है। पूर्व छात्रों ने पत्र लिखकर उप-कुलपति को बताया था कि कामरा अपने शो में राष्ट्र विरोधी बातें भी कहते हैं।

Author July 23, 2018 1:50 PM
मशहूर स्‍टैंडअप कॉमेडियन कुणाल कामरा। फोटो- Twitter/KunalKamra

वड़ोदरा की महाराजा सया जी राव विश्वविद्यालय ने स्टैंड अप कॉमेडियन कुणाल कामरा के शो को रद कर दिया है। ये शो विश्वविद्यालय के अहाते में स्थित सीसी मेहता आॅडिटोरियम में आगामी 11 अगस्त को होने वाला था। ये कार्रवाई उप—कुलपति को विश्वविद्यालय के 11 पूर्व छात्रों के द्वारा लिखी गई चिट्ठी मिलने के बाद की गई है। पूर्व छात्रों ने पत्र लिखकर उप—कुलपति को बताया था कि कामरा अपने शो में राष्ट्र विरोधी बातें भी कहते हैं।

सीसी मेहता सभागार के संयोजक राकेश मोदी ने द इंडियन एक्सप्रेस को बताया,”हमने शनिवार (21 जुलाई) की रात में कामरा को मौखिक तौर पर शो रद किए जाने की जानकारी दे दी है। हमें सूचना मिली थी कि वे अपने शो में कई बार राष्ट्र विरोधी और विवादित बातें कहते रहे हैं। इसलिए हमने शो रद करने का फैसला किया। चूंकि अगले दिन रविवार का सार्वजनिक अवकाश था इसलिए हमने तय किया है कि सोमवार (23 जुलाई) को इसकी आधिकारिक घोषणा की जाएगी।”

सूत्रों के मुताबिक, महाराजा सयाजी राव विश्वविद्यालय के उप—कुलपति ने प्रभारी और सीसी मेहता प्रेक्षागृह के संयोजक से कहा कि वह प्रस्तुति पर आधारित शो रद करने पर आखिरी फैसला लें। द इंडियन एक्सप्रेस ने उस पत्र की प्रति का अध्ययन भी किया जिसमें ​शो रद करने की अपील विश्वविद्यालय से की गई थी। पत्र का विषय था,”यूनीवर्सिटी परिसर में राष्ट्रविरोधी कॉमेडियन के द्वारा प्रस्तुत होने जा रहे कार्यक्रम की अनुमति रद करने के लिए।” ये पत्र विश्वविद्यालय के विभिन्न विभागों के 11 पूर्व छात्रों ने भेजा है।

पत्र में लिखा है,”हम गुजरात के सबसे प्रतिष्ठित विश्वविद्यालय के परिसर में एक राष्ट्रविरोध का झंडा उठाए युवा कॉमेडियन के शो को आयोजित करके कौन सा संदेश देना चाहते हैं?” आगे लिखा गया है,”मैं उस कॉमेडियन का नाम नहीं लेना चाहता, क्योंकि वह इसका हकदार नहीं है कि इस मेल में उसके नाम का जिक्र किया जा सके।”

वीसी को भेजे गए मेल में लिखा है,”उसने हमारे राष्ट्रगान का मजाक उड़ाया, उसने खुले आम टुकड़े—टुकड़े गैंग का समर्थन किया। देश के लगभग हर देशप्रेमी विश्वविद्यालय ने उसका विरोध किया है। फिर हम क्यों अपने पवित्र संस्थान में उसे प्रवेश करने दे रहे हैं? हमें शक है कि ये साल 2019 के लोकसभा चुनावों से पहले वड़ोदरा के युवाओं की मानसिकता को दूषित करने की बौद्धिक साजिश है।”

हालांकि विश्वविद्यालय ने दावा कि वह कामरा को शो रद किए जाने की जानकारी शनिवार को दे चुके थे। इसके बावजूद कामरा ने रविवार को इस बारे में ट्वीट करके जवाब दिया। कामरा ने कहा,”ये कभी इतना कूल नहीं था कि आपको खबरों से पता चले कि आप किसी खास दिन काम नहीं करने जा रहे हैं। भविष्य में होने वाली छुट्टी का आनंद मैं आज ही मना रहा हूं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App