ताज़ा खबर
 

‘मोदी-माया कोडनानी को कॉलेज कार्यक्रमों मे जाने की इजाजत तो जिग्नेश मेवानी को क्यों नहीं?’

'राजनीतिक पार्टियां और छात्र संगठन मेवानी को अलगाववादी के रूप में देखते हैं। मेवानी यहां शिक्षा पर बोलने आ रहे थे न कि राजनीति करने'।

Author February 13, 2019 11:53 AM
एच के आर्ट्स कॉलेज के वाइस प्रिंसिपल रहे मोहनभाई परमार

गुजरात में निर्दलीय विधायक जिग्नेश मेवानी को अहमदाबाद के एच के आर्ट्स कॉलेज में बुलाने जाने और उसके बाद अचानक कार्यक्रम रद्द किए जाने के मामले ने तूल पकड़ना शरू कर दिया है। जिग्नेश को कॉलेज प्रशासन ने वार्षिकोत्सव कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि आमंत्रित किया था। इस मामले में कॉलेज के प्रिंसिपल हेमंत कुमार शाह और वाइस प्रिंसिपल मोहनभाई परमार ने इस्तीफा दे दिया है। अब इस पर परमार ने पूछा है कि, जब इस कॉलेज में मोदी और माया कोडनानी को आ सकते हैं तो जिग्नेश मेवानी क्यों नहीं?

कॉलेज का वार्षिक कार्यक्रम रद्द होने के बाद परमार ने कहा, ‘एनुअल फंक्शन में यहां के स्टूडेंड्स को अवार्ड और प्राइज मेवानी के हाथों दिए जाना था। मेवानी इस कॉलेज के छात्र रह चुके हैं। अगर ऐसा होता तो स्टूडेंट्स को प्रोत्साहन मिलता। लेकिन राजनीतिक पार्टियां और छात्र संगठन मेवानी को अलगाववादी के रूप में देखते हैं। मेवानी यहां शिक्षा पर बोलने आ रहे थे न कि राजनीति करने। इसके बावजूद कॉलेज के ट्रस्टियों ने धमकियों के हाद कार्यक्रम रद्द कर दिया’।

इसके साथ ही उन्होंने उन राजनेताओं का नाम लिया, जिन्होंने कॉलेज के प्रोग्राम में शिरकत की थी। परमार ने कहा, इस कॉलेक के वार्षिकोत्सव कार्यक्रम में पूर्व विधानसभा स्पीकर अशोक भट्ट, नरेंद्र मोदी, राज्य में मंत्री रह चुकीं माया कोडनानी और पूर्व सांसद हरेन पाठक आ चुके हैं तो मेवानी के आने का विरोध क्यों हो रहा है?

साथ ही उन्होंने बताया कि, बहुत छोटी उम्र में ही उन्होंने अपने पिता को खो दिया था। उन्होंने आगे बताया कि, मेरे पिता खेती करते थे। जब उनकी मौत हुई तब वह बहुत छोटे थे। उनकी मौत लगातार खराब होती सेहत के कारण हुई थी। पढ़ाई का खर्चा उठाने के लिए हर रविवार को काम पर जाना पड़ता था। इस दौरान उनकी मां भी साथ ही होती थीं। मां की बदौलत ही पढ़ाई पूरी हो पाई।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App