ताज़ा खबर
 

गुजरात के मंत्री ने लिया राहुल गांधी का पक्ष, कहा- दादागीरी न करे बीजेपी

मत्स्य पालन मंत्री पुरोषत्तम सोलंकी ने भाजपा द्वारा कांग्रेस पर 'वंशवादी राजनीति' का आरोप लगाने का भी बचाव किया है।

कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी और गुजरात कैबिनेट मिनिस्टर पुरोषत्तम सोलंकी। (फोटो सोर्स- फाइल फोटो और जावेद रजा)

लीना मिश्रा

कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद के लिए केवल राहुल गांधी के नामांकन पत्र भरे जाने पर अब गुजरात भाजपा नेता उनके समर्थन में आ गए हैं। सूबे के मत्स्य पालन मंत्री पुरोषत्तम सोलंकी ने भाजपा द्वारा कांग्रेस पर ‘वंशवादी राजनीति’ का आरोप लगाने का भी बचाव किया है। उन्होंने कहा, ‘उन्हें (भाजपा) इसमें हस्तक्षेप नहीं करना चाहिए। क्या राहुल गांधी ने कभी आपके मामले में दखल दी है कि किसे टिकट देना चाहिए और किसे टिकट नहीं देना चाहिए? तो आप ऐसा क्यों कहते हैं?’

जब उनसे पूछा गया कि क्या भाजपा को वंशवादी मुद्दे को हल करना चाहिए, इसपर उन्होंने कहा, ‘यह गलत है। आप मुझे ही ले लीजिए। भाजपा जो ताकतवर है उसे छूती तक नहीं लेकिन कोई कमजोर है और वो लड़ नहीं सकता तो वो उसके खिलाफ दादागिरी करते हैं। ऐसा ना करें’ साल 1998 से लगातार घोघा सीट से विधायक सोलंकी (56) ने आगे कहा, ‘ये सच हैं कि अगले विधानसभा चुनाव में मैं अपने बेटे दिव्येश को लांच करुंगा। 110 फीसदी में अपने बेटे को पांच साल बाद लांच करुंगा। भाजपा को इसका समर्थन करना होगा अगर पार्टी को मेरा समर्थन चाहिए।’

उन्होंने आगे कहा कि पार्टी अगर भावनगर नगर की 9 सीटें जीतना चाहती है और अगर उन्होंने मेरे बेटे को टिकट नहीं दिया तो मैं चुनाव प्रचार नहीं करुंगा। सोलंकी के अनुसार, ‘भाजपा को सोचना होगा कि उनके लिए कौन लाभकारी है। अगर आप पुरोषत्तम को पसंद करते हैं तो उसे टिकट देते हैं। आप किसी और को पसंद करते हैं तो उसे टिकट देते हैं।’

बता दें कि इस क्षेत्र में पुरोषत्तम सोलंकी के दबदबे का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि पिछले दो विधानसभों में चुनाव में पार्टी ने बिना उनसे बात किए किसी भी प्रत्याशी को टिकट नहीं दिया। इतना ही नहीं वह इस क्षेत्र में भाजपा का प्रतिनिधि भी करते रहे हैं। जीत के बाद पार्टी ने उन्हें मंत्रिपद भी दिया।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App