ताज़ा खबर
 

Gujarat Violence: पलायन कर रहे यूपी-बिहार के लोगों को रोकने में जुटी ठाकोर सेना, कैमरे के सामने रोए अल्‍पेश

Gujarat Violence: लोगों को समझाने के लिए कांग्रेस के विधायक भी रेलवे स्टेशन पर पहुंचे। लोगों को ठाकोर सेना के टोल फ्री नंबर देने के बाद आस्वस्त किया जा रहा है कि वह गुजरात में जब तक हैं सुरक्षित रहेंगे उनको खरोच तक नहीं आएगी।

लोगों को समझाया जा रहा है कि उनको कुछ नहीं होगा जैसे वह पहले काम करते थे वैसे ही काम करते रहेंगे।

गुजरात में यूपी बिहार के लोगों पर हो रहे हमलों को देखते हुए लोग वहां से पलायन कर रहे हैं, लेकिन ठाकोर सेना लोगों को रोकने की पूरी कोशिश में लगी है। ठाकोर सेना के लोगों ने रेलवे स्टेशन पर यूपी-बिहार के पलायन कर रहे लोगों को समझाया कि वे गुजरात छोड़कर न जाएं। इस पर सफाई देते हुए अल्‍पेश ठाकोर रो पड़े। वहीं ठाकोर सेना के मीडिया कन्वीनर राहुल परमार को पाटन से साइबर क्राइम पुलिस ने अरेस्ट कर दिया है। साथ ही दावा किया जा रहा है कि लोगों को टोल फ्री नंबर दिए जा रहे हैं ताकि कोई भी दिक्कत होने पर वह ठाकोर सेना से संपर्क कर सकें।

लोगों को समझाने के लिए कांग्रेस के विधायक भी रेलवे स्टेशन पर पहुंचे। उन्होंने भी उत्तर भारतीय लोगों को समझाने की कोशिश की। उन्होंने लोगों से कहा कि गुजरात में ये जो हो रहा है इसे गलत किया जा रहा है। ठाकोर सेना को बदनाम किया जा रहा है। इसी को लेकर लोगों से बातचीत की जा रही है लोगों को समझाया जा रहा है कि वह गुजरात छोड़कर न जाएं। वहीं लोगों को ठाकोर सेना के टोल फ्री नंबर देने के बाद आस्वस्त किया जा रहा है कि वह गुजरात में जब तक हैं सुरक्षित रहेंगे उनको खरोच तक नहीं आएगी। जो भी चीजें हैं वह सोशल मीडिया के जरिए फैलाई जा रही हैं उससे ज्यादा डर का महौल बन गया है। लोगों को समझाया जा रहा है कि उनको कुछ नहीं होगा जैसे वह पहले काम करते थे वैसे ही काम करते रहेंगे।

पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने ट्वीट किया है कि, “गुजरात में जो भी हो रहा है, निश्चित रूप से उत्तेजना है। लोग डर रहे हैं और गुजरात से छोड़कर भाग रहे हैं। यह एक विनाशकारी स्थिति है। मुझे नहीं पता कि भाजपा इस सब पर नियंत्रण क्यों नहीं कर रही है। बीजेपी केवल लोगों के बीच भ्रम और सांप्रदायिक तनाव पैदा करती है।”

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App