ताज़ा खबर
 

गुजरात: पीएम नरेंद्र मोदी के इवेंट में महिला सरपंच से हटवाया हिजाब, महिला आयोग ने बताया- मानव अधिकारों का उल्लंघन

पुलिस ने इन आरोपों का खंडन किया है, पुलिस का कहना है कि उन्होंने रूटीन जांच की थी।
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

गुजरात में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के एक समारोह में एक मुस्लिम महिला सरपंच को कथित तौर पर हिजाब निकालने के लिए मजबूर किया गया। शाहर्बान सैदालवी केरल से आए एक प्रतिनिधि मंडल का हिस्सा थीं, इन्हें महिला दिवस के मौके पर गांधीनगर में आयोजित एक समारोह में महिला सरपंचों को सम्मानित करने के लिए आमंत्रित किया गया था। हालांकि, पुलिस ने आरोपों का खंडन किया है। पुलिस का कहना है कि उन्होंने रूटीन चेकअप किया था जो कि सिक्यूरिटी प्रोटोकॉल का हिस्सा है।

एनडीटीवी ने अपनी रिपोर्ट में केरल महिला आयोग की सदस्य नूरबीना राशिद के हवाले से लिखा है कि सरपंच सैदालवी को सुरक्षाकर्मियों ने समारोह में हिजाब हटाने के लिए कहा। उन्हें पूरे इवेंट में हिजाब नहीं पहनने दिया गया। समारोह में करीब छह हजार लोगों ने हिस्सा लिया था। सैदालवी के साथ आए 100 सदस्यों के प्रतिनिधि मंडल के लोगों ने याही खान को इस बारे में सूचना दी। रिपोर्ट में याही खान के हवाले से लिखा गया है, ‘जब प्रतिनिधि मंडल के अन्य सदस्यों ने दखल दी तो उन्हें हिजाब एक घंटे बाद वापस दिया गया’

सैदालवी पिछले 20 साल ज्यादा समय से स्थानीय नेता हैं। केरल में उनकी पंचायत को खुले में शौच से मुक्त अभियान में योगदान के लिए सम्मानित किया गया। यह पीएम मोदी के स्वच्छ भारत अभियान का हिस्सा है। राशिद ने बताय, ‘यह अपमान है। महिला दिवस पर एक अल्पसंख्यक समुदाय की एक महिला के साथ ऐसा होता है।’ इसे मानव अधिकारों का उल्लंघन बताते हुए केरल महिला आयोग ने संबंधित सुरक्षा अधिकारियों के खिलाफ कड़े कार्रवाई की मांग की है।

पीएम मोदी की इसी इवेंट में एक महिला को सुरक्षाकर्मियों ने मुंह बंद कर घसीटते हुए बाहर कर दिया था। महिला ने इवेंट में प्रदर्शन किया था। प्रदर्शन करने वाली महिला की पहचान ग्रेटर नोएडा की शालिनी के तौर पर हुई है। जब पीएम मोदी महिलाओं को संबोधित कर रहे थे, तभी उस महिला ने प्रदर्शन करते हुए स्टेज तक पहुंचने की कोशिश की। तभी सुरक्षाकर्मियों ने प्रदर्शन करने वाली महिला को दबोच लिया। अंग्रेजी न्यूज चैनल इंडिया टुडे ने इस घटना का एक वीडियो प्रसारित किया है, जिसमें सुरक्षाकर्मियों द्वारा महिला का हाथ से मुंह बंद करके घसीटते हुए दिखाया गया है।

वीडियो- महिला दिवस 2017: पुरुषों के बराबर वेतन पाने में महिलाओं को लग जाएंगे 150 साल

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. M
    manoj
    Mar 9, 2017 at 7:41 am
    NDTV बैंगलोर की उस महिला को न्यूज़ में जगह नहीं देता है जिसके खिलाफ मुस्लिम ओर्गानिज़शन्स ने धमकी दी है गाना के लिए ? प्रधानमंत्री के समारोह के लिए सुरक्षाक की जिम्मेवारी NDTV लेगा की सुरक्षा एजेंसीज ? जिनको सुरक्षा प्रोटोकॉल को नहीं मानना है वह समारोह में नो शामिल हों ? किसी के लिए प्रधानमंत्री की सुरक्षा से समझौता नहीं किया जा सकता है .
    (0)(1)
    Reply