ताज़ा खबर
 

हार्दिक पटेल पर भड़का ‘पागल हुआ विकास’ नारा देने वाला युवक, पूछा- पाटीदार किसे करें सपोर्ट

गुजरात में 9 और 14 दिसंबर को विधानसभा चुनाव हैं और परिणाम 18 दिसंबर को जारी किए जाएंगे।
पाटीदार अनामत आंदोलन समिति (पीएएसएस) नेता हार्दिक पटेल। (फाइल फोटो)

गुजरात विधानसभा चुनाव से पहले ‘विकास पागल हो गया’ नारा इजाद करने वाले युवक सागर सावलिया ने पाटीदार नेता हार्दिक पटेल पर निशाना साधा है। अहमदाबाद के सिविल इंजीनियरिंग के छात्र सावलिया ने यह नारा बनाया था। जिसका पाटीदार नेताओं सहित कांग्रेस नेताओं ने भाजपा पर निशाना साधने के लिए इस्तेमाल किया है। लेकिन अब सावलिया ने पाटीदार नेता हार्दिक पटेल पर अपना गुस्सा निकाला है। सावलिया का कहना है कि हार्दिक पटेल पाटीदार आरक्षण और चुनावी टिकट के मुद्दे पर अपना नजरिया स्पष्ट करें। सावलिया ने सोशल मीडिया पर पोस्ट लिखी है, ‘मुझे लगता है कि पाटीदार अनामत आंदोलन समिति ने करोड़ों रुपए लेकर समझौता कर लिया है। हार्दिक को जवाब देना चाहिए कि आंदोलन पैसे बनाने के लिए था या फिर पाटीदार अनामत आंदोलन समिति के नेताओं को टिकट दिलाने के लिए।’

सोमवार को सावलिया ने सोशल मीडिया पर पोस्ट किया, ‘हार्दिक मैं अक्सर कहता था कि क्रूर भाजपा सरकार को जाना होगा। आपने भी कहा था कि भाजपा को हराना है। लेकिन जैसे ही चुनाव नजदीक आ रहे हैं, पाटीदार अनामत आंदोलन समिति के नेता टिकट बंटवारे को लेकर खुद ही लड़ रहे हैं। इसके साथ ही वे अपने व्यक्तिगत हितों के लिए कांग्रेस की सार्वजनिक तौर पर आलोचना कर रहे हैं। पाटीदार भाजपा को हराना चाहते हैं, लेकिन आपके नेता कांग्रेस का विरोध कर रहे हैं। पाटीदारों को किसका समर्थन करना चाहिए?’

गुजरात चुनाव से पहले ‘विकास पागल हो गया’ ऑनलाइन कैंपेन काफी मशहूर हुआ था। भाजपा के विकास के वादे पर पाटीदार अनामत आंदोलन समिति और कांग्रेस पार्टी पार्टी इसी नारे से चोट कर रही थीं। सावलिया ने सबसे पहले यह नारा 24 अगस्त को अपने फेसबुक पेज पर शेयर किया था। उसके बाद विपक्षी पार्टियों ने इस नारे को लपक लिया। गुजरात में राहुल गांधी अपनी हर एक बैठक की शुरुआत इसी नारे से करते थे। राहुल गांधी कहते थे, ‘विकास को गुजरात में हुआ क्या है।’ इसके जवाब में रैली में मौजूद लोग कहते थे, ‘विकास पागल हो गया’।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.