ताज़ा खबर
 

गुजरात चुनाव 2017: राहुल गांधी का पीएम नरेंद्र मोदी से सवाल- 7वें वेतन आयोग के बाद भी कॉन्‍ट्रैक्‍ट वालों को कम वेतन क्‍यों?

राहुल ने गुजरात विधानसभा चुनाव होने तक 22 सवाल पूछे जाने के अपने वादे के तहत कहा '22 सालों का हिसाब, गुजरात मांगे जवाब।'

Author December 4, 2017 3:11 PM
गुजरात में रैली को संबोधित करते कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी। (Photo Source: PTI)

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने गुजरात के युवाओं की बेरोजगारी और सातवें वेतन आयोग की सिफारिशें लागू नहीं करने को लेकर सोमवार को प्रधानमंत्री मोदी पर निशाना साधा। राज्य में सातवां वेतन आयोग लागू नहीं होने से अनुबंध और निर्धारित वेतन वाले कर्मचारियों की दशा दयनीय बनी हुई है। राहुल ने गुजरात विधानसभा चुनाव होने तक 22 सवाल पूछे जाने के अपने वादे के तहत कहा ’22 सालों का हिसाब, गुजरात मांगे जवाब।’

राहुल गांधी ने अपने ट्विटर हैंडल पर ट्वीट करते हुए लिखा “गुजरात के हालात पर प्रधानमंत्री से छठा सवाल। भाजपा सरकार की दोहरी मार। एक तफ राज्य के युवा बेरोजगार हैं जबकि दूसरी तरफ लाखों अनुबंध और निर्धारित वेतन वाले कामगारों की स्थिति दयनीय बनी हुई है।” उन्होंने मोदी से पूछा, “सातवें वेतन आयोग के मुताबिक हर महीने 18,000 रुपये के वेतन के बावजूद निर्धारित वेतन वाले कामगारों और अनुबंध पर काम करने वाले कामगारों को सिर्फ 5,500 रुपये प्रति महीना और 10,000 रुपये प्रति महीना ही क्यों मिलता है?” आपको बता दें कि राहुल गांधी ने 9 दिसंबर को पहले चरण के चुनाव होने तक हर रोज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से एक सवाल पूछे जाने की रणनीति के तहत यह सवाल किया।

राहुल गांधी ने रविवार को राज्य में महिलाओं की सुरक्षा, स्वास्थ्य, शिक्षा और महिलाओं के खिलाफ अपराधों को लेकर  भी पीएम से सवाल किया था। वहीं, शनिवार को उन्होंने राज्य के सरकारी स्कूलों द्वारा छात्रों से अत्यधिक फीस वसूलने को लेकर पीएम से सवाल किया था। गौरतलब है कि राज्य की 182 सदस्यीय विधानसभा के लिए दो चरणों के तहत चुनाव होने हैं। पहले चरण के तहत नौ दिसंबर को जबकि दूसरे चरण के तहत 14 दिसंबर को चुनाव होने हैं। इन चुनावों के नतीजे 18 दिसंबर को घोषित किए जाएंगे। 22 साल से सूबे की सत्ता पर काबिज बीजेपी के लिए यह चुनाव नाक का सवाल बन गया है। बीजेपी और कांग्रेस के बीच इन चुनावों में कांटे की टक्कर है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App