Clash over twirling moustache leaves 11 injured in Patan-गुजरात: मूंछ पर ताव देने को लेकर भिड़े दो समुदाय, घायल होकर 11 लोग पहुंचे अस्पताल - Jansatta
ताज़ा खबर
 

गुजरात: मूंछ पर ताव देने को लेकर भिड़े दो समुदाय, घायल होकर 11 लोग पहुंचे अस्पताल

गुजरात में मूंछों की लड़ाई बड़े बवाल का सबब बन रही। झूठी शान में गांवों में दो-दो समुदायों के बीच बवाल की घटनाएं हो जाती हैं।ताजा मामला पालनपुर के नायका गांव का है।

Author नई दिल्ली | May 25, 2018 1:25 PM
गुजरातःमूंछ पर ताव देने को लेकर भिड़े दो समुदाय, घायल होकर 11 लोग

गुजरात में मूंछों की लड़ाई बड़े बवाल का सबब बन रही। झूठी शान में गांवों में दो-दो समुदायों के बीच बवाल की घटनाएं हो जाती हैं।ताजा मामला पालनपुर के नायका गांव का है। जहां एक युवक के मूछों पर ताव देने को लेकर दो समुदायों के बीच भिड़ंत हो गई।जिसमें 11 लोग घायल हो गए।एक घायल वजेसिंह राठौड़ की हालत गंभीर होने पर उसे महसाना हास्पिटल रेफर कर दिया गया। आठ घायलों को पाटन के प्राइवेट हास्पिटल में भर्ती कराया गया।
मूछों को लेकर संघर्ष की यह घटना गुरुवार दोपहर हुई, जब दरबार समुदाय का युवक गांव की गली से गुजर रहा था और अपनी मूंछों पर ताव देने लगा। युवक पर नजर पड़ी तो पाटीदार समुदाय के कुछ लोगों ने इसका विरोध किया तो दोनों पक्षों में कहासुनी हो गई। जिसके बाद गांव में तनाव व्याप्त हो गया।कुछ ही समय मे गांव युद्ध का मैदान बन गया। पाटीदार और दरबार समुदाय के लोग एक दूसरे पर टूट पड़े। उन्होंने लाठी-डंडे सहित धारदार हथियार का इस्तेमाल किया। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस अतिरिक्त फोर्स के साथ पहुंची और किसी तरह से हालात को काबू में किया। बाद में गांव पुलिस छावनी में तब्दील हो गया। पाटन के डीएसपी आरडी जाला के मुताबिक हालात काबू में हैं। पुलिस की पेट्रोलिंग तेज कर दी गई है। दोनों समुदायों के 26 से अधिक लोगों पर हत्या की कोशिश, दंगा, उत्पीड़न और भारतीय दंड संहिता की अन्य धाराओं में केस दर्ज किया गया है।
मूछों के लेकर गुजरात में मारपीट की घटनाएं नई नहीं हैं। इससे पहले फरवरी मं साबरकांठा जिले में एक घटना हो चुकी है। जब अल्पेश पंड्या नामक युवक ने आरोप लगाया था कि मूंछ रखने के कारण ठाकोर समुदाय के लोगों ने न केवल मारपीट की बल्कि जबरन मूंछ भी मुड़वा दी। मामला संज्ञान में आने के बाद पुलिस ने एससी-एसटी एक्ट के तहत केस दर्ज किया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App