ताज़ा खबर
 

गुजरात के सरकारी स्कूल में अधिकारियों ने बांट दिए अखिलेश यादव की तस्वीर वाले बैग

अखिलेश यादव की फोटो के साथ एक पंच लाइन भी लिखी है, खूब पढ़ो, खूब बढ़ो।

बैग के ऊपर जो स्टीकर लगाया गया था उसपर लिखा था डिस्ट्रिक्ट पंचायत स्कूल ब्रांच, छोटा उदयपुर। (File Photo)

गुजरात में यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की फोटो वाले स्कूल बैग बांट दिए गए। गुजरात के एक आदिवासी इलाके के छोटा उदयपुर में यह बैग बांटे गए हैं। वहां की जिला पंचायत ने हाल ही में शाला (स्कूल) प्रवेशोत्सव मनाया था। इस दौरान बच्चों को स्कूल बैग बांटे गए। इन बैगों पर अखिलेश यादव की फोटो लगी थी। फोटो के साथ एक पंच लाइन भी लिखी है, खूब पढ़ो, खूब बढ़ो। जिला पंचायत ने यह बैग ऐसे ही नहीं बांट दिए थे। जब यह बैग बच्चों को दिए गए तो उनपर अखिलेश यादव की फोटो के ऊपर एक स्टीकर लगा था। स्टीकर पर लिखा था डिस्ट्रिक्ट पंचायत स्कूल ब्रांच, छोटा उदयपुर। इतना ही नहीं इन स्टीकर्स को अखिलेश यादव की फोटो के ऊपर लगाने से पहले उस पर काला पेंट किया गया। पेंट के बाद स्टीकर को लगाया गया।

यह मामला जब सामने आया जब एक युवक ने इस स्टीकर को बैग से हटा दिया। हटाने के बाद उसने देखा कि इसपर तो काला पेंट हो रहा है। जब युवक ने काले पेंट को भी साफ किया तो देखा कि उसपर तो अखिलेश यादव की फोटो लगी है। साथ में एक स्लोगन भी लिखा है खूब पढ़ो, खूब बढ़ो। स्थानीय अधिकारियों के मुताबिक सूरत की एक फर्म के जरिए ये स्कूल बैग बांटे गए। इन बैग्स पर गुजरात के शिक्षा विभाग की फोटो होनी चाहिए थी लेकिन इन बैग्स पर यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की फोटो लगी हुई है। 12,000 बैगों में से 5 फीसदी बैग ही अखिलेश यादव की फोटो वाले हैं।

अधिकारियों का मानना है कि जिस कंपनी से बैग लिए गए हैं, उसी ने यूपी सरकार को बैग सप्लाई किए हों। टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक राज्य शिक्षा (स्कूल) विभाग की प्रधान सचिव सुनैना तौमर ने कहा कि हमने मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं। इस मामले में जो भी कार्रवाई जरूरी होगी की जाएगी। छोटा उदयपुर जिले के जिला प्राथमिक शिक्षा अधिकारी महेश प्रजापित ने कहा कि हमने मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं। बैग को ई टेंडर के माध्यम से जिला पंचायत के फंड से खरीदा गया था। एक बैग को 124 रुपये में खरीदा गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App