ताज़ा खबर
 

उना दलित उत्पीड़न केस: CID ने 37 लोगों के खिलाफ आरोपपत्र किया दाखिल, चार पुलिसवाले भी गिरफ्तार

गुजरात सीआइडी ने उना कस्बे में दलितों के साथ मारपीट की घटना के मामले में बुधवार को 34 लोगों और तीन नाबालिगों के खिलाफ आरोपपत्र दाखिल किया

Author अमदाबाद | September 8, 2016 04:12 am
मंगलवार को गुजरात के रेजिडेंट कमिश्नर को ज्ञापन दिया।

गुजरात सीआइडी ने गिर-सोमनाथ जिले के उना कस्बे में दलितों के साथ मारपीट की घटना के मामले में बुधवार को 34 लोगों और तीन नाबालिगों के खिलाफ आरोपपत्र दाखिल किया जिनमें चार पुलिस वाले भी शामिल हैं। उना तालुक अदालत के अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट एयू जुजारू के समक्ष बुधवार दोपहर में आरोपपत्र दाखिल किया गया। आरोपपत्र दाखिल करने से पहले सीआइडी अधिकारियों ने उना थाने से संबद्ध चार पुलिसवालों को कर्तव्य नहीं निभाने और आरोपियों की मदद करने के मामले में गिरफ्तार किया था। गिरफ्तार पुलिसवालों को भी आरोपपत्र में आरोपी दिखाया गया है।

पुलिसवालों में उना के पुलिस निरीक्षक निर्मल सिंह झाला, पुलिस उप-निरीक्षक नरेंद्र पांडेय, हैड कांस्टेबल कांजी चूड़ासमा और महिला सहायक उप निरीक्षक कंचनबेन परमार शामिल हैं। जांच के शुरुआती स्तर पर गिरफ्तार कुछ प्रमुख आरोपियों में प्रमोदगिरि गोस्वामी, रमेश जाधव, बलवंत गोस्वामी, राकेश जोशी और नागजी वनिया शामिल हैं जिनके खिलाफ बुधवार को आरोपपत्र दाखिल किया गया है। इन 34 आरोपियों पर आइपीसी की धाराओं 307 (हत्या का प्रयास), 397 (लूटपाट), 365 (अपहरण), 355 (किसी व्यक्ति को अपमानित करने के लिए हमला), 342 (गलत तरह से बंधक बनाना), 147 (दंगा भड़काना), 324 (हथियार से आहत करना) और 120-बी (आपराधिक षड्यंत्र) आदि के तहत मामले दर्ज किए गए। उन पर अत्याचार रोकथाम अधिनियम की संबंधित धारा के तहत भी मामला दर्ज किया गया।

उना अदालत में बुधवार को दाखिल आरोपपत्र में 34 लोगों के अलावा तीन नाबालिगों पर भी आरोप तय किए गए हैं। जांच के दौरान उन्हें भी गिरफ्तार किया गया था। सीआइडी ने इन नाबालिगों के खिलाफ जूनागढ़ में किशोर न्याय बोर्ड में अलग से आरोपपत्र दाखिल किया। आरोपपत्र में सीआइडी ने आरोप लगाया कि चार पुलिसवालों ने कथित आरोपियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं करके अपने पद का दुरुपयोग किया।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App