ताज़ा खबर
 

गुजरात: अंबानी परिवार के दामाद सौरभ पटेल को नहीं बनाया मंत्री, 14 साल में पहली बार पत्ता कटा

सौरभ पटेल 2002 से मंत्री थे। अबतक उन्होंने सभी बड़े मंत्रालय संभाले। जिसमें वित्त, ऊर्जा, प्रेट्रोकेमिकल और उद्योग शामिल थे। वह वाइब्रेंट गुजरात कार्यक्रम का भी मुख्य चेहरा रहे हैं।

vijay rupani, gujrat, saurabh patelसौरभ का अंबानी परिवार से भी नाता है। वे धीरूभाई अंबानी के बड़े भाई रमनिकभाई अंबानी के दामाद हैं।

विजय रुपानी ने रविवार (7 अगस्त) को गुजरात के 16वें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली। 2012 में हुए आखिरी विधानसभा चुनाव के बाद गुजरात के वे तीसरे मुख्यमंत्री हैं। उनकी शपथ ग्रहण समारोह पर बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के साथ-साथ कई केंद्रीय मंत्री और बीजेपी शासित प्रदेशों के मुख्यमंत्री भी आए थे। इसके साथ ही बीजेपी के दिग्गाज और सीनियर नेता लाल कृष्ण आडवाणी भी मौके पर मौजूद थे। विजय रुपानी के साथ ही उप मुख्यमंत्री नितिन पटेल और बाकी 23 मंत्रियों ने भी शपथ ली। रुपानी ने अपनी कैबिनेट में कई बदलाव किए। उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल की कैबिनेट में शामिल रहे नौ मंत्रियों को नए मंत्रिमंडल में शामिल नहीं किया। इसमें कई नाम तो ऐसे थे जो आंनदीबेन के साथ-साथ पीएम मोदी के भी वफादार माने जाते थे।

इसमें से एक नाम सौरभ पटेल का है। वह 2002 से यानी मोदी के मुख्यमंत्री पद पर होने के वक्त से मंत्री पद पर थे। उस वक्त से अबतक उन्होंने सभी बड़े मंत्रालय संभाले। जिसमें वित्त, ऊर्जा, प्रेट्रोकेमिकल और उद्योग शामिल थे। इसके अलावा सौरभ वाइब्रेंट गुजरात कार्यक्रम का भी मुख्य चेहरा रहे हैं। उसका अगला कार्यक्रम जनवरी 2017 में होना है। इन सब के साथ-साथ सौरभ पटेल किसी और वजहों से भी चर्चा में रहे हैं। दरअसल, सौरभ का अंबानी परिवार से भी नाता है। वे धीरूभाई अंबानी के बड़े भाई रमनिकभाई अंबानी के दामाद हैं। इस रिश्ते से वे मुकेश और अनिल अंबानी की बहन के पति हुए।

Read Also: रंगून में हुआ था जन्‍म, आसान नहीं रहा रुपानी का RSS कार्यकर्ता से गुजरात का CM बनने का सफर

सौरभ को शामिल करने की वजह यह भी मानी जा रही है कि हो सकता है कि पीएम मोदी आने वाले वक्त में उन्हें केंद्र की कैबिनेट में शामिल कर लें। आंनदीबेन पटेल की कैबिनेट में से उनके अलावा गृह राज्य मंत्री रजनीभाई पटेल और महिला व बाल विकास मंत्री वासुबेन त्रिवेदी को नए मंत्रिमंडल में शामिल नहीं किया गया, जिन्हें पूर्व मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल का वफादार माना जाता है। सामाजिक न्याय व अधिकारिता मंत्री रमनलाल वोरा और विज्ञान व प्रौद्योगिकी राज्यमंत्री गोविंद पटेल भी इस लिस्ट में शामिल हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 गुजरात के ‘शाह’ रुपानी ने आनंदीबेन को दिया झटका, पूर्व मुख्यमंत्री के वफादारों को नए मंत्रिमंडल में नहीं मिली जगह
2 रंगून में हुआ था जन्‍म, आसान नहीं रहा रुपानी का RSS कार्यकर्ता से गुजरात का CM बनने का सफर
3 Gujarat: विजय रुपानी आज लेंगे मुख्यमंत्री पद की शपथ, कैबिनेट में शामिल हो सकते हैं 8 पटेल मंत्री
ये पढ़ा क्या?
X