ताज़ा खबर
 

गुजरात: लड़कियों की कमी, शादियों के लिए नारी संरक्षण गृह जा रहे पाटीदार

राज्‍य में असमान लिंगानुपात ने गुजरात के पाटीदार समुदाय को दुल्‍हनों की तलाश के लिए सरकार द्वारा चलाए जा रहे नारी संरक्षण गृह जाने पर मजबूर कर दिया है।

वडोदरा | May 30, 2016 7:28 AM
2011 की जनसंख्‍या के अनुसार, गुजरात में प्रति 1000 लड़कों पर 886 लड़कियों का अनुपात है। (EXPRESS PHOTO)

वड़ोदरा में निराश्रित महिलाओं के लिए बने नारी संरक्षण गृह में अनाथ, विधवा और अन्‍य कष्‍ट भाेग रही महिलाएं रहती हैं। उनकी शादी के लिए जाति-धर्म के बंधन को किनारे रख कर लोग आगे आ रहे हैं।

जून के अंत तक नारी संरक्षण गृह की पांच अनाथ लड़कियां शादी करने जा रही हैं। जबकि अन्‍य साथी और स्‍टाफ उन दानदाताओं की तलाश में है जो शादी का खर्च उठा लें। सभी पांचों शादियां एक ही दिन होनी हैं, लेकिन मुख्‍यमंत्री आनंदी बेन के कार्यालय ने अभी पुष्टि नहीं की है। नारी संरक्षण गृह में 75 लड़कियां रहती हैं और शादी यहां के लिए एक दुर्लभ मौका होती है।

Read more: गुजरातः खेत में सो रहे बच्चे को उठाकर ले गए थे शेर, वन विभाग ने 13 शेरों को किया कैद

काजल, दुर्गा और निधि उन लड़कियों के नाम हैं जिनकी शादी होने जा रही हैं। नारी संरक्षण गृह की चेयरपर्सन रीता मंजरावाला कहती हैं कि काजल, दुर्गा और निधि को उन्‍हीं की पाटीदार जाति के लोगों ने चुना है। वो बताती हैं, “यहां की एक लड़की की शादी 2011 में अमेरली के एक परिवार में हुई थी। परिवार वाले लड़की के व्‍यवहार से इतना प्रभावित हुए कि उनके तीन रिश्‍तेदार यहां दुल्‍हनें ढूंढ़ते आए।”

विषम लिंगानुपात की वजह से नारी संरक्षण गृह को सौराष्‍ट्र और अन्‍य क्षेत्रों के पाटीदार परिवारों से रिश्‍ते मिलते हैं। मंजरावाला कहती हैं, “खराब लिंगानुपात की वजह से उनके लिए दुल्‍हन ढूंढ़ पाना बहुत मुश्किल होता है। लेकिन बाहर लड़कियां ढूंढ़ने की बजाय, बहुत सारे पाटीदार परिवार हमसे संपर्क करते हैं। इससे इन लड़कियों को नई जिंदगी मिल जाती है।

Next Stories
1 कांग्रेस वरिष्ठ नेता शंकर सिंह वाघेला का आरोप- गुजरात को दिवालिया बना दिया है भाजपा ने
2 गर्मी का कहर: राजस्‍थान के फलौदी में पारा 50 डिग्री पार, अहमदाबाद में 100 साल का रिकॉर्ड टूटा
3 दिल्ली में पारा 47 के पार, 7 राज्यों के लिए मौसम विभाग जारी किया रेट अलर्ट वार्निंग
ये पढ़ा क्या?
X