ताज़ा खबर
 

सीडी प्रकरण: हार्दिक पटेल के ग्रुप का दावा- आने वाले हैं 52 और वीडियो, साजिश में सीएम शामिल

कहा जा रहा है कि कथित रूप से हार्दिक की कम से कम तीन ‘‘अंतरंग’’ वीडियो फैलाई जा रही हैं। पहली क्लिप आने के बाद हार्दिक ने भाजपा पर निशाना साधा था।

Author November 17, 2017 12:26 PM
पहले जारी वीडियो क्लिप के बारे में दावा किया गया है कि इसमें हार्दिक अपने दो साथियों और एक लड़की के साथ नजर आ रहे हैं। (वीडियो ग्रैब)

पाटीदार अनामत आंदोलन समिति (PAAS) ने गुरुवार (17 नवंबर) को आरोप लगाया कि उसके नेता हार्दिक पटेल के ‘‘फर्जी’’ सेक्स क्लिप के लिए गुजरात के मुख्यमंत्री और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष जिम्मेदार हैं। हालांकि सत्तारूढ पार्टी ने इस आरोप को खारिज किया है। पीएएएस संयोजक दिनेश बमभानिया ने गांधीनगर में एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘चूंकि भाजपा हार्दिक की बढती लोकप्रियता से चिंतित है, बीजेपी ने पार्टी को और अपने नुकसान को रोकने के लिए चुनावों से पहले उन्हें सलाखों के पीछे डालने की साजिश रची है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हमारे सूत्रों ने हमें बताया है कि ऐसी 52 फर्जी क्लिप और हैं जिसमें से 22 क्लिप हार्दिक तथा बाकी की क्लिप अन्य पीएएएस नेताओं की हैं।’’ उन्होंने कहा कि पीएएएस वकीलों से सलाह करके आगामी दिनों में कानूनी कार्रवाई शुरू करेगी और भाजपा की ‘‘संलिप्तता’’ को साबित करने के लिए ‘‘सबूत’’ सार्वजनिक करेंगे। भाजपा ने इन आरोपों को ‘‘बेबुनियाद’’ करार दिया और वीडियो क्लिपों के फैलने के लिए पीएएएस के भीतर विवाद का जिम्मेदार ठहराया।

पीएएएस संयोजक दिनेश बमभानिया ने संवाददाता सम्मेलन में आरोप लगाया,‘‘हमें पता चला है कि भाजपा समर्थक सूरत का एक बिल्डर और एक अन्य व्यक्ति इन फर्जी क्लिपों के पीछे हैं। उन्होंने भाजपा को बचाने के लिए चुनावों से पहले हार्दिक की छवि खराब करने के लिए गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष जीतू वघानी के इशारे पर यह किया।’’ उन्होंने आरोप लगाया कि यह ‘‘40 करोड़ रुपये के सौदे’’ के तहत किया गया। हार्दिक के करीबी सहयोगी बमभानिया ने आरोप लगाया कि भाजपा के इशारे पर सूरत के दो लोगों द्वारा भारत से बाहर ऐसी 52 और ‘‘फर्जी’’ वीडियो तैयार किये गये हैं। कहा जा रहा है कि कथित रूप से हार्दिक की कम से कम तीन ‘‘अंतरंग’’ वीडियो फैलाई जा रही हैं। पहली क्लिप आने के बाद हार्दिक ने भाजपा पर निशाना साधा था।

इधर गुरुवार को हार्दिक पटेल को एक और झटका लगा जब हार्दिक पटेल के पूर्व करीबी सहयोगी चिराग पटेल ने गुरुवार को गुजरात के उप मुख्यमंत्री नीतिन पटेल की उपस्थिति में सत्तारूढ़ पार्टी भाजपा में शामिल हो गए। हार्दिक पटेल के साथ-साथ चिराग पटेल भी राजद्रोह के आरोपों का सामना कर रहे हैं। भाजपा में शामिल होने के बाद चिराग ने हार्दिक पर निजी महत्वकांक्षाओं को पूरा करने के लिए पाटीदार आरक्षण आंदोलन को हथियाने का आरोप लगाया। उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ””पाटीदार समुदाय को आरक्षण दिलाने के लिए शुरू हुआ आंदोलन अब एक व्यक्ति के निजी महत्वकांक्षाओं को पूरा करने का माध्यम बन गया है। यह धन और सत्ता हासिल करने का एक जरिया बन गया है। मैं मानता हूं कि आंदोलन गलत दिशा में जा रहा है।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App