ताज़ा खबर
 

अहमदाबाद में पटेलों ने पार्टी को जताया- हमारा सीएम नहीं बनाया तो कहीं की नहीं रहेगी भाजपा

भारतीय जनता पार्टी (BJP) पटेल फेक्टर को नजरअंदाज नहीं कर सकती। क्योंकि बीजेपी के 120 विधायकों में से 34 पटेल हैं। वहीं पूरी विधानसभा में 182 में से 44 विधायक पटेल हैं।

Author अहमदाबाद | August 5, 2016 08:20 am
भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह। (Express/File Photo: Javed Raja)

गुजरात की मुख्यमंत्री आनंदी बेन पटेल के इस्तीफे के बाद अब वहां किसी नए को कार्यभार सौंपा जाना है। नए सीएम को चुनने का काम बीजेपी ने पार्टी अध्यक्ष अमित शाह को दिया है। अमित शाह इसके लिए गुजरात पहुंच भी चुके हैं। लेकिन वहां पटेल समुदाय द्वारा उनपर दवाब बनाया जा रहा है। पटेलों का कहना है कि नया मुख्यमंत्री उन्हीं के समुदाय से चुना जाना चाहिए। गुजरात पिछले कुछ महीनों से पटेल आंदोलन की वजह से वैसे ही सुलगा हुआ है, ऐसे में बीजेपी ने पटेलों की बात नहीं मानी तो एक बड़ा वोट बैंक उनके हाथ से निकल जाएगा। अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव को देखते हुए बीजेपी ऐसा बिल्कुल नहीं चाहेगी। इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत के दौरान एक सीनियर मंत्री ने कहा, ‘पटेल नेताओं और आनंदीबेन पटेल के समर्थकों ने साफ ऐलान कर दिया है कि नितिन पटेल का नाम फाइनल होना चाहिए। गुजरात के ताजा हालात को देखते हुए लगता नहीं कि इसको हल्के में लिया जाएगा।’

हालांकि, ऐसा नहीं है कि सब किसी पटेल को ही सीएम बनाने के पक्ष में हैं। कई बड़े नेता इस चीज के खिलाफ हैं। एक सीनियर नेता और गुजरात से सांसद ने कहा, ‘गुजरात में बीजेपी पर भ्रष्टाचार के आरोप लगे हैं, अब के नेताओं में मोदी जैसा करिश्मा नहीं है कि लोगों को संभाल सकें। ना ही सिर्फ पटेल वोटरों से कुछ होने वाला है। पार्टी को नए तरीके से काम करना होगा।’

Read Also: गुजरात का नया सीएम कौन: चर्चा में हैं छह बड़े नाम पर क्‍या मोदी फिर करेंगे हैरान?

वहीं, अमित शाह किसी ऐसे नेता को चुनना चाहते हैं जिसकी इमेज साफ हो। लेकिन वह पटेल फेक्टर को भी नजरअंदाज नहीं कर सकते। ऐसा इसलिए है क्योंकि बीजेपी के 120 विधायकों में से 34 पटेल हैं। वहीं पूरी विधानसभा में 182 में से 44 विधायक पटेल हैं। माना जा रहा है कि अगर नितिन पटेल को चुना गया तो पटेल और बाकी लोगों के बीच विवाद होना तय है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App