ताज़ा खबर
 

मनोहर पर्रिकर ने सर्जिकल स्‍ट्राइक के लिए RSS की ट्रेनिंग को दिया क्रेडिट, कहा- PM और मेरा कॉम्बिनेशन अलग

रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने कहा कि महात्‍मा गांधी की धरती से आए प्रधानमंत्री और गोवा से आए रक्षामंत्री एक अलग तरह का कॉम्बिनेशन बनाते हैं। इस कॉम्बिनेशन ने भारतीय सेना के नियंत्रण रेखा के पार जाकर सर्जिकल स्‍ट्राइक करने का समर्थन किया।

Author , अहमदाबाद | Updated: October 17, 2016 4:54 PM
manohar parrikar, indian army surgical strike, RSS, defence minister, PM narendra modi, LoC strikesरक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने सर्जिकल स्‍ट्राइक का फैसला लेने के लिए राष्‍ट्रीय स्‍वयंसेवक संघ(आरएसएस) के प्रशिक्षण को क्रेडिट दिया है। (Photo:PTI)

रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने सर्जिकल स्‍ट्राइक का फैसला लेने के लिए राष्‍ट्रीय स्‍वयंसेवक संघ(आरएसएस) के प्रशिक्षण को क्रेडिट दिया है। उन्‍होंने कहा कि महात्‍मा गांधी की धरती से आए प्रधानमंत्री और गोवा से आए रक्षामंत्री एक अलग तरह का कॉम्बिनेशन बनाते हैं। इस कॉम्बिनेशन ने भारतीय सेना के नियंत्रण रेखा के पार जाकर सर्जिकल स्‍ट्राइक करने का समर्थन किया। अहमदाबाद में निरमा यूनिवर्सिटी में ‘अपनी सेना को जानिए’ कार्यक्रम में पर्रिकर ने कहा, ”मैं चकित रह जाता हूं कि महात्‍मा गांधी की धरती से आए प्रधानमंत्री और गोवा से आए एक रक्षामंत्री व सर्जिकल स्‍ट्राइक, स्थिति काफी… हो सकता है आरएसएस की शिक्षा के कारण ऐसा हुआ हो लेकिन यह अलग तरह का कॉम्बिनेशन था।”

रक्षा मंत्री मनोहर पार्रिकर ने कहा- “नहीं देंगे सर्जिकल स्ट्राइक के सबूत”, देखें वीडियो:

उन्‍होंने कहा कि उरी हमले के बाद लोग जब उन पर सवाल उठा रहे थे तो प्रधानमंत्री और उन्‍हें मुश्किलों का सामना करना पड़ा। पर्रिकर ने कहा, ”उरी में 18 जवानों के शहीद हो जाने के बाद हमारे सामने मुश्किल स्थितियां थीं। 29 सितम्‍बर तक प्रधानमंत्री को सोशल मीडिया और मीडिया पर निशाना बनाया गया। आलोचना का कुछ हिस्‍सा मेरे ऊपर भी आया।” उन्होंने सर्जिकल स्‍ट्राइक के सबूत मांग रहे लोगों को भी आड़े हाथ लिया। उन्होंने कहा, ‘पिछले पांच-छह वर्षों से संघर्ष विराम का लगातार उल्लंघन हो रहा है, आंकड़े देख लीजिए। अंतर सिर्फ इतना है कि अब हम उन्हें करारा जवाब देते हैं। जिस दिन हमले किए गए उस दिन से लेकर आज तक कुछ राजनेता इसका सबूत मांग रहे हैं। जब भारतीय सेना कुछ कहती है तो हमें उस पर विश्वास करना चाहिए। हमारी सेना दुनिया में सर्वश्रेष्ठ, पेशेवर, साहसी और सत्यनिष्ठ है। मुझे नहीं लगता कि यहां अहमदाबाद में उनसे (सेना से) कोई सबूत मांगेगा।”

सेना ने दो बार दिया सर्जिकल स्‍ट्राइक को अंजाम, 20 जिंदा आतंकी भी पकड़े: रिपोर्ट

उन्होंने कहा, ‘लक्षित हमलों के बाद दो अच्छी बातें हुई हैं। पहली, कुछ राजनेताओं को छोड़ दिया जाए तो सभी भारतीय एक स्वर में बोल रहे हैं और हमारे बहादुर सैनिकों के समर्थन में खड़े हैं। दूसरी, बेहद प्रभावी ढंग से राष्ट्रीय सुरक्षा को लेकर हम (भारतीय) संवदेनशील हो गए हैं।’ संवाददाताओं के साथ बातचीत में पर्रिकर ने कहा कि एक बात तो साफ है और वह यह कि उनकी सरकार राष्ट्रीय सुरक्षा को लेकर गंभीर है।

30 साल पुराने हथियार से कमांडो को करनी पड़ी सर्जिकल स्‍ट्राइक, 11 हजार पैराशूट और एम्‍युनिशन की भी कमी

वॉर मेमोरियल के उद्घाटन में बोले पीएम मोदी; कहा- “हमारी सेना और रक्षा मंत्री बोलते नहीं, काम करते हैं”

गुजरात की पाकिस्तान से लगने वाली सीमा से देश में अवैध रूप से प्रवेश करने वाले लोगों के मुद्दे पर पर्रिकर ने कहा, ‘बीएसएफ सीमा पर सुरक्षा को और कड़ी कर रहा है। आप जानते हैं कि यह इलाका दलदली है जहां हम बाड़ नहीं लगा सकते। लेकिन हम तकनीक के इस्तेमाल के जरिए इस कमी को पूरा करेंगे ताकि हमारे इलाके में कोई भी अनाधिकृत व्यक्ति प्रवेश ना कर सके।’

LoC के अंदर घुसकर 4 घंटे में 38 आतंकी ढेर कर लौट गए भारतीय कमांडो, पढ़ें सर्जिकल स्ट्राइक का पूरा ब्योरा

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 सर्जिकल स्ट्राइक्स का सबूत मांग रहे लोगों को मनोहर पर्रिकर ने लताड़ा
2 जबरन धन वसूली: सूरत से AAP विधायक गुलाब सिंह गिरफ्तार, सरेंडर करने पहुंचे थे थाने
3 सगी बहनों के पतियों में हुआ प्यार, GAY कपल बनकर रहने के लिए बीवियों को छोड़ा