ताज़ा खबर
 

हार्दिक पटेल की 5000 कारों के काफिले के साथ आज गुजरात वापसी, छह महीने के लिए हुए थे तड़ीपार

छह महीने की तड़ीपारी की अवधि पूरी होने के बाद हार्दिक पटेल रैली करेंगे।

hardik patel hardik patel exile, patel reservation, patidar protest, gujarat, hardik patel gujaratपाटीदार आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल। (पीटीआई फाइल फोटो)

पाटीदार नेता हार्दिक पटेल छह महीने बाद गुजरात लौट रहे हैं। गुजरात हाईकोर्ट के छह महीने तक राज्‍य से बाहर रहने के आदेश की अवधि पूरा होने के बाद वे राजस्‍थान से हिम्‍मतनगर जाएंगे। उन्‍हें राजद्रोह के मामले में यह आदेश दिया गया था। 23 साल के हार्दिक पटेलों को सरकारी नौकरियों और कॉलेजों में आरक्षण देने की मांग को लेकर आंदोलन के मुखिया हैं। छह महीने की तड़ीपारी की अवधि पूरी होने के बाद हार्दिक पटेल रैली करेंगे। खबरों के अनुसार राजस्‍थान-गुजरात की सीमा से 5000 कारों का काफिला उनके साथ हिम्‍मतनगर जाएगा। पाटीदार अनामत आंदोलन समिति के नेता वरुण पटेल ने बताया कि रतनपुर और हिम्‍मतनगर में हार्दिक के स्‍वागत के लिए एक लाख कार्यकर्ताओं को आने को कहा गया है। इसके बाद वह भविष्‍य की योजनाओं के बारे में बात करेंगे।

हार्दिक का पूर्व मुख्‍यमंत्री और भाजपा नेता केशुभाई पटेल से भी मिलने का कार्यक्रम हैं। गुजरात में इस साल के आखिर में विधानसभा के चुनाव होने हैं, इसे देखते सभी राजनीतिक पार्टियों की निगाहें हार्दिक पर हैं। आम आदमी पार्टी तो पहले ही हार्दिक को अपना समर्थन दे चुकी है। दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पिछले साल अक्‍टूबर में एक कार्यक्रम में हार्दिक को देशभक्‍त बताया था। छह महीने तक गुजरात से बाहर रहने के दौरान हार्दिक ने कई राजनेताओं से मुलाकात की। उन्‍होंने भाजपा को हराने का आह्वान किया है।

हार्दिक ने पिछले साल गुजरात में आरक्षण की मांग को लेकर कई रैलियां की थी। इसके बाद 45 दिन तक चले आंदोलन में कई हिंसक प्रदर्शन भी हुए थे। इसमें 12 लोगों की जान भी गई थी। गुजरात पुलिस ने उन पर राजद्रोह का मामला दर्ज किया था और वे नौ महीने तक सूरत जेल में रहे थे।

Next Stories
1 ”जो 10 साल में अमेठी को विकसित नहीं कर सका, वो गुजरात को बदलने वाले नरेंद्र मोदी पर राय दे रहा है”
2 वाइब्रेंट गुजरात में हादसे का शिकार हुआ एयरफोर्स का जवान, देखिए वीडियो
3 गिद्ध कम होने से परेशान पारसी समुदाय छोड़ रहा शवों को खुले में छोड़ने की परंपरा
यह पढ़ा क्या?
X