ताज़ा खबर
 

गुजरात: उना घटना पर दलित युवकों ने आत्महत्या की कोशिश, अस्पताल में भर्ती

पुलिस ने इसे रोकने के लिए पर्याप्त संख्या में सुरक्षाकर्मी तैनात किए थे लेकिन फिर भी वे जहर पीने में कामयाब रहे।

Author राजकोट | July 18, 2016 8:57 PM
उना में कथित गोहत्या को लेकर अपने समुदाय के लोगों को प्रताड़ित किए जाने के विरोध में उन्होंने यह कदम उठाया है। (file photo )

गुजरात के राजकोट जिले में दो स्थानों पर दलित युवकों ने सोमवार आत्महत्या की कोशिश की। पिछले हफ्ते उना में कथित गोहत्या को लेकर अपने समुदाय के लोगों को प्रताड़ित किए जाने के विरोध में उन्होंने यह कदम उठाया है।  शहर के बाजार वाले इलाके में डॉ बाबासाहेब अंबेडकर की प्रतिमा के पास पांच दलित युवकों…राजेश परमार, रमेश प्राधी, जगदीश राठौड़, भरत सोलंकी और अनिल मागध ने जहर पीकर आत्महत्या करने की कोशिश की। जिले के जामकनदोरना में किशोर सोलंकी :30: और अमृत परमार :25: ने आत्महत्या करने की कोशिश की।

इन सभी युवकों का गोंदल के अस्पताल में इलाज चल रहा है।  पुलिस निरीक्षक विजय चौधरी ने बताया कि पांच युवकों ने गोंदल में आत्महत्या करने की कोशिश की। उन्होंने ऐसा कदम उठाने की धमकी दी थी और पुलिस ने इसे रोकने के लिए पर्याप्त संख्या में सुरक्षाकर्मी तैनात किए थे लेकिन फिर भी वे जहर पीने में कामयाब रहे। उन्होंने बताया, ‘‘वे लोग गिर सोमनाथ जिले के उना कस्बे में अपने साथी दलित युवकों पर नृशंस हमले के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे।’’

गिर सोमनाथ के पुलिस उपाधीक्षक के.एम जोशी ने बताया कि उना प्रताड़ना मामला में नौ लोगों को गिरफ्तार किया गया है। निरीक्षक एनयू जाला और तीन कांस्टेबलों को निलंबित कर दिया गया है।  गोहत्या करने को लेकर उना में दलित युवकों की परेड कराई गई थी और उन्हें पीटा गया था। इस घटना का वीडियो फैलने पर राष्ट्रव्यापी रोष प्रकट किया गया था। पीड़ितों की दलील है कि वे लोग गाय की खाल उतार रहे थे न कि उसकी हत्या की थी।

सुरेंद्रनगर में करीब 300 दलित युवक आज एक मरी हुई गाय लाए और कलेक्टर के कार्यालय के बाहर प्रदर्शन किया। उन्होंने कलेक्टर को एक ज्ञापन देकर उना मामले के दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App