ताज़ा खबर
 

अब सूरत में भड़की सांप्रदायिक हिंसा, मस्जिद पर लगे पत्थर तो भिड़े लोग, 6 जख्मी

मामले में स्थानीय प्रशासन ने बताया कि 40 लोगों को हिरासत में लिया गया है, जबकि सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने वाले आरोपियों की धर-पकड़ के लिए जांच शुरू कर दी गई है।
तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है।

रामनवमी के दिन (25 मार्च, 2018) पश्चिम बंगाल और बिहार में भड़की सांप्रदायिक हिंसा के बाद अब गुजरात में दो समुदायों के बीच झड़प होने का मामला सामने आया है। न्यूज चैनल एबीपी न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, गुरुवार (29 मार्च, 2018) देर रात सूरत के अमरेली में भड़की हिंसा में छह लोग बुरी तरह घायल हो गए। चौंकाने वाली बात यह है कि पुलिस हस्तक्षेप के बावजूद भी इस हिंसा को रोका नहीं जा सका। बाद में हिंसा की आग और भड़कती देख बड़ी तादाद में पुलिसकर्मियों को घटनास्थल पर भेजा गया। इस पर उपद्रवियों ने पत्थरबाजी शुरू कर दी। पुलिस ने लोगों को तितर-बितर करने के लिए चार बार हवाई फायर किया और आंसू गैस के गोले छोड़े।

मामले में स्थानीय प्रशासन ने बताया कि 40 लोगों को हिरासत में लिया गया है, जबकि सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने वाले आरोपियों की धर-पकड़ के लिए जांच शुरू कर दी गई है। पुलिस ने बताया कि हिंसा की वजह अभी पता नहीं चल सकी है। हालांकि, सूत्रों का कहना है कि अलग-अलग समुदाय के दो लोगों के बीच हुए छोटे से विवाद ने हिंसा का इतना बड़ा रूप ले लिया। इसकी वजह पास में स्थित मस्जिद की दीवार पर पत्थर लगना बताई गई। वहीं, हालात देखते हुए पुलिस ने घटना स्थल पर बड़ी संख्या में सुरक्षाकर्मियों को तैनात कर दिया है।

बता दें कि सांप्रदायिक हिंसा के बाद बिहार और पश्चिम बंगाल के कुछ इलाकों में स्थिति अभी भी तनावपूर्ण बनी हुई है। हालांकि, बीती रात से दोनों राज्य में हिंसा का कोई नया मामला देखने को नहीं मिला। दूसरी तरफ, सांप्रदायिक हिंसा के मामले में दो स्थानीय भाजपा कार्यकर्ताओं सहित 50 लोगों को बिहार के समस्तीपुर और नालंदा जिले से गिरफ्तार किया गया है। वहीं, हिंसा को बढ़ावा देने के आरोप में पश्चिम बंगाल में 60 से ज्यादा लोगों को हिरासत में लिया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App