gujarat bjp mla ask permission to give capital punishment who are talking against bjp - गुजरात के मंत्री राजेंद्र त्रिवेदी बोले-बीजेपी के खिलाफ बोलने वालों को फांसी पर चढ़ाने की दो इजाजत - Jansatta
ताज़ा खबर
 

गुजरात के मंत्री राजेंद्र त्रिवेदी बोले-बीजेपी के खिलाफ बोलने वालों को फांसी पर चढ़ाने की दो इजाजत

पार्टी ने भले ही उन्हें टिकट नहीं दिया हो, लेकिन उन्हें पार्टी के खिलाफ बोलने वालों को सूली पर चढ़ाने की इजाजत चाहिए।

Author अहमदाबाद | November 2, 2017 2:49 PM
गुजरात के खेल मंत्री राजेंद्र त्रिवेदी का एक कथित विडियो काफी वायरल हो रहा है।

गुजरात के खेल मंत्री राजेंद्र त्रिवेदी का एक कथित विडियो काफी वायरल हो रहा है। विडियो में वह कथित तौर पर कह रहे हैं कि वह बीजेपी का विरोधी करने वालों को फांसी पर चढ़ाना चाहते हैं। राओपुर से विधायक विडियो में कहते नजर आते हैं कि पार्टी ने भले ही उन्हें टिकट नहीं दिया हो, लेकिन उन्हें पार्टी के खिलाफ बोलने वालों को सूली पर चढ़ाने की इजाजत चाहिए।  इस बारे में जब राजेंद्र त्रिवेदी से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि वह अपने बयान पर कायम हैं। उन्होंने बताया कि जब वह पार्षद थे तो राज्य के बीजेपी अध्यक्ष काशीराम राणा ने उन्हें पार्टी को बदनाम करने वालों को ढूंढने और उन्हें सबक सिखाने का काम सौंपा था।

बता दें कि वडोदरा में कुछ ऐसे मामले सामने आए थे, जब पार्टी के लोगों के बीच कुछ खास तरह के पर्चे बांटे जाने की बात सामने आई थी। द टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी रिपोर्ट के मुताबिक, अधिकतर चिट्ठियों की शक्ल में बंट रहे इन कागजात में पार्टी के कुछ अहम नेताओं के चरित्र पर आरोप लगाए गए थे। माना जा रहा है कि त्रिवेदी इन पर्चों को लेकर बेहद खफा हैं। पार्टी के सामने समस्या यह है कि वह कोई कार्रवाई नहीं कर सकती क्योंकि इनके पीछे के लोगों की पहचान करना बहुत मुश्किल है। बीजेपी के शहर महासचिव केयूर रोकाडिया ने कहा कि ऐसा हर चुनाव के पहले होता ही है। इनमें लगाए गए अधिकतर आरोप झूठे होते हैं। हम इन्हें नजरअंदाज करते हैं जब तक कि कोई सदस्य किसी का नाम लेकर आरोप न लगाए। भले ही कहा जा रहा हो कि इस तरह की चीजों में बीजेपी का हाथ है, लेकिन ऐसा विपक्ष भी कर सकती है। गुजरात में अगले माह दो चरणों में चुनाव होने हैं। 9 और 14 दिसंबर को मतदान होगा और वहीं 18 दिसंबर को विधानसभा चुनाव के नतीजें आएंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App