ताज़ा खबर
 

गुजरात ATS के शिकंजे में गोधरा कांड के बाद 2003 की ‘जिहादी साजिश’ रचने वाले

दोनों को 2002 के गुजरात दंगों के बाद मुसलमानों पर हुए हमलों का बदला लेने के लिए 2003 में अहमदाबाद के दो लोगों को हथियार और गोला बारूद मुहैया कराने के आरोप में गिरफ्तार किया गया।

Author अहमदाबाद। | August 22, 2016 7:17 PM
चित्र का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है।

गुजरात के आतंकवाद निरोधक दस्ते (एटीएस) ने सोमवार (22 अगस्त) को कहा कि गोधरा कांड के बाद गुजरात में भड़के सांप्रदायिक दंगों का बदला लेने के लिए 2003 में रची गई ‘जिहादी साजिश’ के सिलसिले में वांछित दो लोगों को एटीएस ने मध्य प्रदेश के बुरहानपुर से गिरफ्तार किया है। अब्दुल रजाक अब्दुल रहीम शेख (36) और मोहम्मद शकील शेख (36) को 2002 के गुजरात दंगों के दौरान राज्य में मुसलमानों पर हुए हमलों का बदला लेने के लिए 2003 में अहमदाबाद के दो लोगों को हथियार और गोला बारूद मुहैया कराने के आरोप में गिरफ्तार किया गया। एटीएस ने एक बयान में कहा, ‘मामले की जांच कर रही एटीएस टीम को सूचना मिली थी कि दो आरोपी – अब्दुल रजाक अब्दुल रहीम शेख और मोहम्मद शकील शेख – अपनी पहचान बदलकर मध्य प्रदेश के बुरहानपुर में रह रहे हैं।’

अब्दुल और शकील बुरहानपुर के एक गराज में मैकेनिक के तौर पर काम कर रहे थे। सीआरपीसी की धारा 70 के तहत उन्हें हिरासत में लेने से पहले एटीएस ने उन पर करीब से नजर रखी थी। पूछताछ के दौरान अहमदाबाद में दो लोगों को हथियार और गोला बारूद मुहैया कराने में उनकी कथित भूमिका की बात सामने आई, जिसके बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। अहमदाबाद की अपराध शाखा ने उनके और कुछ अन्य लोगों के खिलाफ चार अप्रैल 2003 को आईपीसी, शस्त्र कानून और आतंकवाद निरोधक कानून की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया था। दोनों आरोपियों को सोमवार (22 अगस्त) को अपराध शाखा के हवाले कर दिया गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X