scorecardresearch

गरबा ड्रेस पर भी लगा जीएसटी, गुजरात में मचा जोरदार हंगामा

गरबा पर जीएसटी लगने से कार्यक्रम के आयोजकों को बिजनेस में घाटे का डर सता रहा है और वह सरकार से इसे वापस लेने की मांग कर रहे हैं।

गरबा ड्रेस पर भी लगा जीएसटी, गुजरात में मचा जोरदार हंगामा
गरबा के आयोजन पर जीएसटी (file photo)

गुजरात में गरबा के आयोजन पर जीएसटी को लेकर घमासान मचा हुआ है। दरअसल सरकार ने गरबा के आयोजन के लिए जारी होने वाले एंट्री पास पर जीएसटी लगाने का फैसला किया है। इस आयोजन पर 18% जीएसटी लगाया गया है। आम लोग और विपक्षी दल सरकार के इस फैसले का विरोध कर रहे हैं। सूरत में लोगों ने गरबा पहन कर अपना विरोध प्रदर्शन दर्ज कराया। आम आदमी पार्टी और कांग्रेस ने सरकार से जीएसटी वापस लेने की मांग की है।

यूनाइटेड वे ऑफ बड़ौदा नाम का एनजीओ, गुजरात में गरबा इवेंट आयोजित करने के लिए जाना जाता है। इसके वेबसाइट के मुताबिक 9 दिन के लिए पुरुषों के एंट्री पास की कीमत 4,838 रुपये है, जिसमें 4100 रुपए एंट्री फीस और 738 रुपए (18%) जीएसटी है। जबकि महिलाओं को एंट्री के लिए 1298 रुपये देने होंगे, इसमें 198 रुपये जीएसटी शामिल है।

सरकार गरबा की ड्रेस चनिया चोली पर भी जीएसटी वसूलने की तैयारी कर रही है। अगर चनिया चोली की कीमत 1000 से कम हुई तो इस पर 5% जीएसटी लागू हो सकता है, वहीं अगर इसकी कीमत 1,000 से अधिक हुई तो 12% जीएसटी लागू हो सकता है। सरकार के इस कदम का लोग विरोध कर रहे हैं और विपक्षी दल भी इसके विरोध में जगह-जगह प्रदर्शन कर रहे हैं।

हालांकि सरकार अभी अपने कदम से पीछे हटने के मूड में नहीं है। सरकार को जीएसटी से करोड़ों रुपए का फायदा होगा। आंकड़ों के मुताबिक सिर्फ वडोदरा में करीब एक लाख पास जारी किए जाते हैं। इस पर सरकार को करीब डेढ़ करोड़ की कमाई होगी। वहीं राजकोट में करीब 50 हजार पास जारी किए जाते हैं, जिससे सरकार को करीब एक करोड़ की कमाई होगी।

गरबे पर जीएसटी लगने के कारण आयोजकों को भी डर सताने लगा है। पिछले 3 साल से कोरोना के कारण उनका बिजनेस नहीं चला था, लेकिन इस बार जीएसटी के कारण उनका बिजनेस खराब हो सकता है। अभी तक गरबा के ड्रेस पर जीएसटी लागू नहीं हुआ है लेकिन एंट्री पास पर 18% की दर से जीएसटी लगाया जा चुका है। सरकार के इस कदम से लोग भी खुश नहीं हैं। गुजरात में नवरात्री के अवसर पर बड़े पैमाने पर गरबा के कार्यक्रम आयोजित किये जाते हैं।

पढें अहमदाबाद (Ahmedabad News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.