scorecardresearch

आपराधिक पृष्ठभूमि वाले कैंडिडेट्स को तीन बार विज्ञापन देकर जनता को देनी होगी अपनी जानकारी- गुजरात में बोले CEC

चुनाव आयोग ने बताया कि शहर में 17,506 पोलिंग बूथ जबकि गांव में 34,276 पोलिंग बूथ बनाए जाएंगे। इसके साथ ही 182 मॉडल पोलिंग बूथ बनाए जाएंगे।

आपराधिक पृष्ठभूमि वाले कैंडिडेट्स को तीन बार विज्ञापन देकर जनता को देनी होगी अपनी जानकारी- गुजरात में बोले CEC
मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार (फोटो सोर्स: @Ani)

मुख्य निर्वाचन आयुक्त राजीव कुमार गुजरात विधानसभा चुनाव की तैयारियों को लेकर मंगलवार को गुजरात दौरे पर थे। तैयारियों का जायजा लेने के बाद राजीव कुमार ने गांधीनगर में प्रेस वार्ता की। प्रेस वार्ता के दौरान उन्होंने बताया कि गुजरात में करीब 4.83 करोड़ पंजीकृत मतदाता हैं और आने वाले चुनावों के लिए 182 विधानसभा क्षेत्रों में 51,782 मतदान केंद्र बनाए जाएंगे।

इसके साथ ही आपराधिक छवि वाले उम्मीदवारों को लेकर भी मुख्य निर्वाचन आयुक्त ने विशेष दिशा निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि यदि कोई पार्टी आपराधिक छवि के उम्मीदवार को उतरती है तो उन्हें बताना होगा कि ऐसी क्या बाध्यता थी कि उन्हें ऐसे उम्मीदवारों को चुनना पड़ा। यह उनको अपने सोशल और प्रिंट मीडिया में बताना होगा।

मुख्य निर्वाचन आयुक्त राजीव कुमार ने कहा, “आपराधिक पृष्ठभूमि वाले उम्मीदवार को चुनने पर राजनीतिक दलों को जस्टिफिकेशन देना होगा। ऐसे उम्मीदवारों को अपने आपराधिक रिकॉर्ड के बारे में तीन बार विज्ञापन देना होगा, ताकि नागरिक सोच-समझकर निर्णय ले सकें।”

मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार और चुनाव आयुक्त अनूप चंद्र पांडेय ने प्रवर्तन एजेंसियों के साथ बैठक की और आगामी विधानसभा चुनावों को प्रलोभन मुक्त और सुचारू रूप से संचालन के विषय पर बातचीत की। चुनाव आयोग की टीम ने सोमवार को गुजरात में अधिकारियों के साथ बैठक की थी। चुनाव आयोग ने बताया कि शहर में 17,506 पोलिंग बूथ बनाए जाएंगे जबकि गांव में 34,276 पोलिंग बूथ बनाए जाएंगे। इसके साथ ही 182 मॉडल पोलिंग बूथ बनाए जाएंगे। ये बूथ हर एक विधानसभा क्षेत्र में होंगे। जबकि हर एक पोलिंग स्टेशन पर औसतन 934 मतदाता वोट डाल सकते हैं।

राज्य के प्रशासनिक अधिकारियों के अलावा चुनाव आयोग की टीम ने बीजेपी और कांग्रेस के प्रतिनिधियों से भी मुलाकात की। इसके साथ ही उनसे राज्य विधानसभा चुनाव के संचालन के संबंध में अपने सुझाव देने के लिए भी कहा गया।

गुजरात और हिमाचल प्रदेश में नवंबर के अंत तक चुनाव संपन्न कराए जाने की उम्मीद जताई जा रही है। गुजरात में दो चरणों में तो वहीं हिमाचल प्रदेश में एक चरण में विधानसभा चुनाव संपन्न हो सकते हैं। बताया जा रहा है कि चुनाव आयोग की टीम चुनाव की तैयारियों को लेकर संतुष्ट है।

पढें अहमदाबाद (Ahmedabad News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 27-09-2022 at 07:31:10 pm
अपडेट