boyfriend forcibly teeth extracted his girlfriend in gujarat - गुजरात: कोई और न देखे इसलिए लिव इन में रह रहे प्रेमी ने प्रेमिका के दो दांत तुड़वा दिए - Jansatta
ताज़ा खबर
 

गुजरात: कोई और न देखे इसलिए लिव इन में रह रहे प्रेमी ने प्रेमिका के दो दांत तुड़वा दिए

आरोपी के खिलाफ शिकायत पर पीड़िता ने बताया कि वह अपने प्रेमी को बहुत प्यार करती हैं और उसके खिलाफ कोई केस नहीं करना चाहती हैं।

तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है।

गुजरात में एक सनकी आशिक ने प्रेमिका के दांत तोड़वा दिए। राजधानी अहमदाबाद में रोते हुए पीड़िता ने बताया कि वो 15 साल से लिव-इन रिलेशन में रह रही हैं। उन्हें प्रेमी के दबाव के चलते मजबूरी में अपने आगे के दो दांत तुड़वाने पड़े, ताकि वह बदसूरत दिखें और कोई उन्हें पसंद ना कर ले। इसके अलावा प्रेमी ने घर की खिड़कियां बंद रखने के लिए मजबूर किया। खबर के मुताबिक आरोपी रिक्शा ड्राइवर यही नहीं रुका, उसने पीड़िता गीताबेन को घरेलू नौकरानी के रूप में काम करने से भी रोक दिया। बाद में आशिक के उत्पीड़न से परेशान होकर पीड़िता बीते बुधवार (एक अगस्त, 2018) को दुधश्वर इलाके में ऑटो रिक्शा से कूद गईं। गीताबेन को सड़क पर बदहवास हालत में पड़ा देखकर वहां से गुजर रहे एक शख्स ने महिला हेल्पलाइन पर फोन किया।

उपचार के दौरान पीड़िता ने मनोचिकित्सक को पूरी दास्तान सुनाई। उन्होंने बताया, ‘पूर्व में दोनों शादीशुदा थे और 15 साल पहले अपने-अपने जीवनसाथी व बच्चों को छोड़कर एक साथ रहने लगे। सालों तक दोनों की जिंदगी खुशहाल रही लेकिन एक साल पहले प्रेमी शक करने लगा। मुझे मजबूरी में दांत निकलवाने पड़े और काम बंद करना पड़ा। प्रेमी को फिर भी लगा कि घर में कोई मुझे देखता है। इसके बाद उसने खिड़की, दरवाजों पर प्लास्टिक की सीट लगा दी।’

55 साल की पीड़िता ने आगे बताया कि वह प्रेमी (57) के शक की वजह से घर में बंदी बनकर रहने को मजबूर थीं। बाद में गीताबेन की दास्तान सुनकर मनोचिकित्सकों ने उनके प्रेमी को बुलाया और समझाने की कोशिश करते हुआ कहा कि वो शक ना करे। दूसरी तरफ आरोपी के खिलाफ शिकायत पर पीड़िता ने बताया कि वह अपने प्रेमी को बहुत प्यार करती हैं और उसके खिलाफ कोई केस नहीं करना चाहती हैं। वहीं प्रेमी ने अब लिखित में कहा है कि वो अपने बर्ताव को सुधारेगा और गीताबेन को अब परेशान नहीं करेगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App