ताज़ा खबर
 

गुजरात चुनाव: कई घंटों के मंथन के बाद ल‍िस्‍ट फाइनल नहीं कर सकी भाजपा, अटकी सैकड़ों उम्मीदवारों की जान

हाई प्रोफाइल बैठक के बाद भी कोई लिस्ट ना आने से जिन्हें सबसे ज्यादा चिंता हुई है वे हैं मौजूदा विधायक। उन्हें फिक्र है कि अगली बार बीजेपी उन्हें टिकट देगी या नहीं।

पीएम मोदी

गुजरात चुनाव में बीजेपी के टिकट पर भाग्य आजमाना चाह रहे भाजपा नेताओं में बेचैनी का आलम है। राज्य में 9 दिसंबर को पहले चरण का मतदान है, लेकिन पार्टी ने अबतक उम्मीदवारों की लिस्ट जारी नहीं की है। बुधवार को दिल्ली में जब बीजेपी की केन्द्रीय चुनाव समिति कैंडिडेट्स का नाम तय करने के जुटी तो नेताओं में उम्मीद जगी, लेकिन कई घंटे की चर्चा के बाद पार्टी ने कोई लिस्ट नहीं जारी की। दिल्ली में पार्टी की बैठक के बाद केन्द्रीय मंत्री जेपी नड्डा ने कहा, ‘ गुजरात चुनाव के लिए अधिकतर सीटों के नामों पर चर्चा कर ली गई है, सही वक्त पर लिस्ट दारी कर दी जाएगी।’ उम्मीदवारों के नामों पर चर्चा करने के लिए हुई ये बैठक तीन घंटे तक चली, इस मीटिंग में पीएम नरेन्द्र मोदी, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, गुजरात के सीएम विजय रुपाणी, डिप्टी सीएम नितिन पटेल और गुजरात बीजेपी के अध्यक्ष जीतू वगनानी शामिल हुए। लेकिन इतनी हाई प्रोफाइल बैठक के बाद भी कोई नाम आने से जिन्हें सबसे ज्यादा चिंता हुई है वे हैं मौजूदा विधायक। उन्हें फिक्र है कि अगली बार पार्टी उन्हें टिकट देगी या नहीं।

हालांकि कांग्रेस ने भी अब तक उम्मीदवारों के नाम जारी नहीं किये हैं। लेकिन कैंडिडेट्स के नाम तय कर दिये गये हैं और कांग्रेस की लिस्ट कभी भी आ सकती है। बीजेपी ने कैंडिडेट्स का नाम तय करने के लिए जमीनी स्तर पर काफी मेहनत की है। बीजेपी नेताओं ने पिछले महीने जिला स्तर पर कई बैठकें की, और चुनिंदा उम्मीदवारों के नाम फाइनल किये गये, फिर इन नामों को पार्टी के राज्य चुनाव समिति को भेजा गया। रिपोर्ट्स के मुताबिक बीजेपी की राज्य चुनाव समिति 10 और 11 नवंबर को मुलाकात की थी और हर सीट के लिए तीन नामों पर चर्चा की गई थी। गुजरात विधानसभा में 182 सीटें हैं।

बीजेपी के सूत्रों ने बताया कि चूंकि कांग्रेस टिकट देने में जातीय समीकरण का ख्याल रख रही है इसलिए बीजेपी नामों के ऐलान में देरी कर रही है ताकि कांग्रेस के जातीय गणित से बीजेपी संतुलन बिठा सके। बीजेपी सूत्रों का कहना है कि पार्टी पहले कांग्रेस का लिस्ट देखना चाहती है उसी के मुताबिक अपनी रणनीति बनाना चाहती है। बीजेपी की नजर हार्दिक पटेल, जिग्नेश मवानी और अल्पेश ठाकोर के साथ कांग्रेस के समझौते पर भी है, बीजेपी ये जानना चाहती है कि कांग्रेस इनके नेताओं को कौन सी सीटें दे रही है। इन पर विचार करने के बाद ही पार्टी अपने उम्मीदवारों के नाम का खुलासा करना चाहती है। इस उहापोह में सिटिंग एमएलए सबसे नर्वस हैं। 2007 में सीएम मोदी ने गुजरात में 47 मौजूदा विधायकों के टिकट काट दिये थे। जबकि 2012 में 30 बीजेपी विधायकों को टिकट नहीं मिला था। बीजेपी सूत्रों के मुताबिक एंटी इंकबेंसी फैक्टर की काट निकालने के पार्टी कई वर्तमान विधायकों को टिकट नहीं दे सकती है। गुजरात में 9 दिसबंर और 14 दिसंबर को मतदान है। जबकि वोटों की गिनती 18 दिसंबर को होगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 सीडी केस: हार्दिक पटेल ने पूछा- 23 साल के लड़के की गर्लफ्रेंड नहीं हो सकती क्या
2 मोदी के बूते भाजपा की गुजरात फतह की तैयारी
3 गुजरात चुनाव: प‍िता ने कर द‍िया था मां का कत्‍ल, जान‍िए बीजेपी नेता रेशमा पटेल की कहानी
ये पढ़ा क्या?
X