BJP MP Poonam Mahajan Said If someone harasses you, slap him and don't think why he did that - बीजेपी सांसद पूनम महाजन ने कहा- हो चुकी हूं शिकार, कोई छेड़े तो थप्पड़ मारो, मत सोचो उसने ऐसा क्यों किया - Jansatta
ताज़ा खबर
 

बीजेपी सांसद पूनम महाजन ने कहा- हो चुकी हूं शिकार, कोई छेड़े तो थप्पड़ मारो, मत सोचो उसने ऐसा क्यों किया

पूनम महाजन ने कहा, "अमेरिका में आज तक महिला राष्ट्रपति नहीं हुई जबकि हमारे यहां राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, रक्षा मंत्री और मुख्यमंत्री हो चुकी हैं।"

सांसद पूनम महाजन भाजयुमो की राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं। (तस्वीर- पूनम महाजन का फेसबुक)

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की मुंबई नार्थ सेंट्रल से सांसद पूनम महाजन ने रविवार (एक अक्टूबर) को कहा कि उनके समेत सभी भारतीय महिलाओं को कभी न कभी “यौन उत्पीड़न” का सामना करना पड़ता है। महाजन ने बताया, “उस समय मैं कार अफोर्ड नहीं कर सकती थी तो वर्सोवा से वर्ली तक क्लास के लिए ट्रेन से जाती थी। लेकिन जब मुझे अवांछित तरीके से देखता था तो मैं खुद को बेचारी नहीं महसूस करती थी। इस दुनिया की हर औरत खासकर भारत में इसका सामना करती हैं।” पूनम महाजन ने एक कार्यक्रम में बोलते हुए कहा कि राजनीति में औसतपना (मीडियाक्रिटी) पुरुष बर्दाश्त कर सकते हैं, महिलाएं नहीं। महाजन ने कहा, “औसतपना महिलाओं को शोभा नहीं देता। हमें शक्ति की जरूरत है और हमने ये दिखाया है।” पूनम महाजन इस भारतीय जनता पार्टी युवा मोर्चा (भाजयुमो) की राष्ट्रीय अध्यक्ष भी हैं। उनके पिता प्रमोद महाजन बीजेपी के वरिष्ठ नेता थे।

पूनम महाजन ने आईआईएम अहमदाबाद में आयोजित इस कार्यक्रम में कहा, “हमारे जीवन के हर अंग से कोई देवी जुड़ी हुई हैं। कुछ मामलों में हम अमेरिका से आगे हैं।” महाजन ने आगे कहा, “अमेरिका में आज तक महिला राष्ट्रपति नहीं हुई जबकि हमारे यहां राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, रक्षा मंत्री और मुख्यमंत्री हो चुकी हैं। आइए कांच की दीवार को तोड़ दें। परंपरा को निभाना हमारे ऊपर है। आत्म-दया दिखाने की जरूरत नहीं है। अगर कोई आपको छेड़े तो उसे थप्पड़ मारिए, ये मत सोचिए कि उसने ऐसा क्यों किया।”\

नौ दिसंबर 1980 को मुंबई में जन्मीं पूनम महाजन साल 2006 में अपने पिता के निधन के बाद सक्रिय राजनीति में आईं। साल 2014 के लोक सभा चुनाव में उन्होंने करीब 1.80 लाख वोटों से मुंबई नार्थ सेंट्रल से कांग्रेस की प्रिया दत्त को हराया। प्रिया दत्त दो बार से इस सीट से संसदीय चुनाव जीत चुकी थीं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App