ताज़ा खबर
 

गुजरात में गोरक्षकों का आतंक, बीफ ले जाने के आरोप में टेम्पो चालक को किया अधमरा

पुलिस ने इलियास की ओर से पेश किए गए पेपर्स की जांच करने के बाद गोरक्षकों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

Author सूरत | August 22, 2016 7:41 PM
भाजपा नेता का बयान ऐसे समय में आया है जब केंद्र सरकार ने पशुओं को वध करने के लिए इन्हें बाजारों में बेचने और खरीदने पर प्रतिबंध लगाया है। ‘(File Photo)

गुजरात के सूरत शहर के पंडेसरा में तथाकथित गोरक्षकों के एक दल ने रविवार रात मवेशियों की खाल और हड्डीयां ले जा रहे एक टेम्पो चालक की जमकर धुनाई कर दी। गोरक्षकों ने टेम्पो में बीफ होने के शक में इस वारदात को अंजाम दिया। इस घटना के बाद टेम्पो चालक ने पुलिस में शिकायत दर्ज करवायी है।

घटना के बाद मौका ए वारदात पर पहुंची पुलिस को छोटा उदेपुर निवासी 62 वर्षीय टेम्पो चालक इलियास शेख ने सूरत म्यूनिसपल कार्पोरेशन के साथ हुए मृत मवेशियों की खाल और हड्डियां ढोने से संबंधित अपने करार का दस्तावेज पेश किया। पुलिस ने इलियास की ओर से पेश किए गए पेपर्स की जांच करने के बाद गोरक्षकों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

इलियास ने पुलिस को बताया कि वे सूरत म्यूनिसपल कार्पोरेशन के साथ हुए करार के तहत खझोड़ स्थित गार्बेज डिस्पोजल प्लांट से अपनी टेम्पो में मृत मवेशियों की खाल और हड्डियां ले जा रहे थे। जब वे अपनी टेम्पो लेकर पंडेसरा के पीयूष पॉइंट इलाके से गुजर रहे थे तभी 10 के करीब युवाओं के एक दल ने खुद को गोरक्षक बताते हुए उनपर हमला कर दिया। उन्होंने इलियास के उपर टेम्पो में बीफ ले जाने का आरोप लगाया और देखते ही देखते वहां भीड़ इकठ्ठी हो गई।

Read Also: अरविंद केजरीवाल को गुजरात में झटका, दलित आंदोलन के नेता बने जिग्नेश मेवानी ने छोड़ी AAP

गोरक्षकों ने टेम्पो की तलाशी ली और उसमें गाय की खाल और हड्डियां पाए जाने के बाद इलियास की पिटाई शुरू कर दी। गोरक्षकों के दल ने टेम्पो को भी बुरी तरह क्षतिग्रस्त कर दिया। इसी बीच भीड़ में से किसी ने पुलिस को इस घटना के बारे में खबर दे दी। कुछ देर बाद मौका ए वारदात पर पहुंची पंडेसरा पुलिस को इलियास घायल हालत में पड़े हुए मिले। पुलिस ने इलियास को फौरन अस्पताल में भर्ती कराया, जहां जांच के दौरान पता चला की उनके दोनों हाथों में फ्रैक्चर है।

Read Also:पासपोर्ट में पिता का नाम लिखने का जोर नहीं डाल सकते अधिकारी: हाईकोर्ट

इलाज के बाद पुलिस ने इलियास का बयान लिया और उनके उपर हमला करने वाले तथाकथित गोरक्षकों के खिलाफ साम्प्रदायिक उन्माद फैलाने का मामला दर्ज किया। पंडेसरा पुलिस इंस्पेक्टर एन एल देसाई ने अपने बयान में कहा, ‘हमने इस मामले में साम्प्रदायिक हमले का केस दर्ज किया है। हमें हमला करने वालों में शामिल दो लोगों विनोद तिवारी तथा रामधनी सिंह यादव के बारे में पता चला है और हम इस वारदात में शामिल अन्य लोगों की छानबीन कर रहे हैं। जल्द ही उन्हें भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X