ताज़ा खबर
 

गुजरात: मोहल्ले से दलित की शवयात्रा निकलने पर ऊंची जाति वालों ने मृत महिला के बेटे को पीटा, 12 लोगों पर एफआईआर

यह मामला पिंगली गांव का है। शनिवार को ऊंची जाती के लोगों ने पारंपरिक रूट से जा रही शव यात्रा को रोका जिसके कारण दोनों पक्षों के बीच बहसबाजी हुई और आरोपियों ने मृतक महिला के बेटे की पिटाई कर दी।

Author पंचमहल | February 5, 2018 12:22 PM
तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है।

देश में दलितों के खिलाफ अत्याचार की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही हैं। ताजा मामला गुजरात के पंचमहल जिले का है, जहां पर ऊंची जाति के लोगों पर आरोप है कि उन्होंने एक मृत दलित महिला की शवयात्रा को रोका और उसके बेटे के साथ मारपीट की। पुलिस ने इस मामले में 12 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है। यह शिकायत मृतक महिला के 33 वर्षीय बेटे दिनेश सोलंकी ने दर्ज कराई है। यह मामला पिंगली गांव का है। शनिवार को ऊंची जाती के लोगों ने पारंपरिक रूट से जा रही शव यात्रा को रोका जिसके कारण दोनों पक्षों के बीच बहसबाजी हुई और आरोपियों ने मृतक महिला के बेटे की पिटाई कर दी।

दिनेश सोलंकी द्वारा कालोल पुलिस थाने में दर्ज कराई गई शिकायत के अनुसार, दिनेश की मां गंगा का हार्ट अटैक के कारण निधन हो गया था। शनिवार की सुबह गंगा के परिजन उसके शव को लेकर दरबार समुदाय के प्रभुत्व वाले इलाके से गुजर रहे थे कि तभी ऊंची जाति के कुछ लोगों ने उनका रास्ता रोक दिया। उन्होंने शव यात्रा को वहां से निकलने नहीं दिया। इसे लेकर दोनों पक्षों के बीच बहसबाजी हुई और ऊंची जाति के लोगों ने दिनेश की पिटाई कर दी, जिसके बाद इसकी शिकायत पुलिस से की गई।

इस मामले पर बात करते हुए पंचमहल के एसपी आरवी चुड़ासमा ने कहा “हमें शिकायत मिली थी कि दलितों को उनके पारंपरिक रूट से शव यात्रा को निकलने नहीं दिया गया। इसकी सूचना मिलते ही पुलिस की एक टीम मौके पर पहुंची और पुलिस की मौजदगी में मृतक महिला का अंतिम संस्कार कराया गया। इस मामले में अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम और आईपीसी के प्रावधानों के तहत 12 लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है। मामले की पूरी जांच की जा रही है। इतना ही नहीं पीड़ित दिनेश सोलंकी की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए उसके घर पर पुलिस की तैनाती की गई है।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App