ताज़ा खबर
 

गुजरातः कर्फ्यू उल्लंघन पर मंत्री के बेटे को रोका था, कॉन्सटेबल का ट्रांसफर; हड़का कहा था- वर्दी तुम्हारे पिता की गुलामी को नहीं पहनी

यादव ने कोरोना वायरस की रोकथाम के लिये लागू लॉकडाउन आदेशों का उल्लंघन करने के लिये बुधवार को रात्रि कर्फ्यू के दौरान करीब साढ़े दस बजे प्रकाश कनानी के दोस्तों को रोका था।

Sunita Yadav, Surat, Policeसूरत में घटना की रात मंत्री के बेटे और उसके दोस्तों को फटकारते हुए महिला कॉन्सटेबल सुनीता यादव। (फोटोः वीडियो स्क्रीनग्रैब/टि्वटर)

गुजरात के एक मंत्री के बेटे और उसके दो दोस्तों को सूरत में लॉकडाउन और नाइट कर्फ्यू के कथित उल्लंघन पर रोकने वाली कॉन्सटेबल सुनीता यादव का ट्रांसफर कर दिया गया है। सुनीता को इस बाबत 12 जुलाई को सूरत पुलिस मुख्यालय में तलब किया गया, जिसके बाद से वह छुट्टी पर चली गईं। इसी बीच, नियम उल्लंघन पर रविवार को आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया।

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि स्वास्थ्य राज्यमंत्री और वराछा रोड से विधायक कुमार कनानी के बेटे प्रकाश कनानी व उसके दोस्तों की उन्हें रोकने का प्रयास कर रही महिला कांस्टेबल सुनीता यादव से तीखी बहस हो गई थी। घटना से जुड़ी एक ऑडियो क्लिप शनिवार को सोशल मीडिया पर वायरल भी हुई थी, जिसके बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया।

ए-डिविजन के सहायक पुलिस आयुक्त सी के पटेल ने कहा कि प्रकाश कनानी और उसके दो दोस्तों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 188, 269, 270 और 144 के तहत मामला दर्ज किया गया है। वैसे, उन्हें जमानत पर रिहा कर दिया गया।

कॉन्सटेबल का आरोप लगाया था कि रात्रि कर्फ्यू के दौरान जब उन्होंने कुछ लोगों को रोका तो उन्होंने उन्हें धमकी दी थी। इसके बाद सूरत के पुलिस आयुक्त आर बी ब्रह्मभट्ट ने शनिवार को इस मामले की जांच के आदेश दिये थे।

यादव ने कोरोना वायरस की रोकथाम के लिये लागू लॉकडाउन आदेशों का उल्लंघन करने के लिये बुधवार को रात्रि कर्फ्यू के दौरान करीब साढ़े दस बजे प्रकाश कनानी के दोस्तों को रोका था। इसके बाद दोस्तों ने प्रकाश कनानी को बुलाया, जो अपने पिता की कार में आया और कथित रूप से यादव से बहस करने लगा। इस बहस की ऑडियो क्लिप शनिवार को वायरल हो गई थी।

ऑडियो क्लिप में उसे कांस्टेबल से यह कहते हुए सुना जा सकता है कि हम चाहें तो तुम्हें 365 दिन इसी जगह खड़ा रखवा सकते हैं। इस पर कांस्टेबल चिल्लाकर कहती है वह तुम्हारे पिता की गुलाम या नौकर नहीं है, जो उसे 365 दिन यहां खड़ा रखवा सकें। इस बीच पटेल ने कहा कि यादव बीमारी की छुट्टी पर चली गई हैं और मामले की जांच जारी है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ‘जादूगर हूं, जादू से यहां तक पहुंचा हूं’, सत्ता में सफलता का राज हंसी-ठिठोली में अशोक गहलोत ने बताया! VIDEO वायरल
2 जब ज्योतिरादित्य सिंधिया और सचिन पायलट ने मिलकर कांग्रेस के पक्ष में संभाला था मोर्चा, देखें VIDEO
3 Coronavirus: भाजपा नेता ने मुकुट पहन उत्तरी दिल्ली नगर निगम के चेयरमैन का संभाला पदभार, लोगों ने बताया नौटंकी
ये पढ़ा क्या...
X