ताज़ा खबर
 

गुजरात हिंसा: नीतीश कुमार ने विजय रूपाणी से की बात, बोले- गुनहगार को मिले सजा, तेजस्वी ने आरएसएस को घेरा

नीतीश कुमार ने उत्तर भारतीयों समेत बिहार के लोगों पर हो रहे कथित हमलों को लेकर रूपाणी से चिंता प्रकट की। बच्ची से कथित बलात्कार की घटना की निंदा करते हुए उन्होंने कहा, ''दोषी को सजा जरूर मिलनी चाहिए लेकिन पूरे समुदाय को एक तराजू में नहीं तौला जाना चाहिए।''

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गुजरात के सीएम विजय रूपाणी से बात की। (फोटो- एएनआई)

14 महीने की बच्ची से कथित बलात्कार की घटना के बाद गुजरात में बिहार, उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश समेत उत्तर भारतीयों को कथित तौर पर निशाना बना जा रहा है। इसे लेकर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गुजरात के सीएम विजय रूपाणी से फोन पर बात की। उन्होंने उत्तर भारतीयों समेत बिहार के लोगों पर हो रहे कथित हमलों को लेकर रूपाणी से चिंता प्रकट की। बच्ची से कथित बलात्कार की घटना की निंदा करते हुए नीतीश कुमार ने कहा, ”दोषी को सजा जरूर मिलनी चाहिए लेकिन पूरे समुदाय को एक तराजू में नहीं तौला जाना चाहिए।” नीतीश कुमार ने पत्रकारों से कहा, ”हमारी सरकार इस बारे में सचेत और सतर्क है। मैंने रविवार (7 अक्टूबर) को गुजरात के मुख्यमंत्री से बात की। हमारे मुख्य सचिव और पुलिस महानिदेशक भी गुजरात में अपने समकक्षों के संपर्क में हैं।” नीतीश कुमार ने आगे कहा, ”अगर किसी ने गुनाह किया है तो उसे जरूर कड़ी सजा मिलनी चाहिए लेकिन एक घटना के कारण लोगों को पूरे राज्य के खिलाफ एक जैसा रवैया और शिकायत नहीं रखनी चाहिए।”

विजय रूपाणी ने सोमवार (8 अक्टूबर) को एएनआई से कहा, ”गुजरात में स्थिति नियंत्रण में है, लोगों से शांति और भाईचारा बनाए रखने की अपील की है। रेप केस के अपराधी को 24 घंटे के भीतर गिरफ्तार कर लिया गया था। हम यह सुनिश्चित करेंगे कि अपराधी को कड़ी सजा मिले।” बता दें कि बीते 28 सितंबर को गुजरात के सावरकांठा जिले में बच्ची के साथ कथित दुष्कर्म की घटना सामने आई थी, जिसके बाद से हिंसा की कई घटनाएं दर्ज की गईं। सोशल मीडिया पर भी नफरत भरे संदेश देखे गए। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पुलिस ने गैर-गुजरातियों पर हमला करने के आरोप में करीब 342 लोगों को गिरफ्तार भी किया है। वहीं, इस मामले में राजनीति भी शुरू हो गई है।

जेडीयू के प्रवक्ता नीरज कुमार ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को पत्र लिख शिकायत की, ”आपने गुजरात के कांग्रेस विधायक अल्पेश ठाकुर को बिहार कांग्रेस का सहप्रभारी नियुक्त किया और उनकी सेना (गुजरात क्षत्रिय ठाकोर सेना) बिहार के लोगों को गुजरात से बाहर करने में जुटी है।” जेडीयू प्रवक्ता के आरोप पर कांग्रेस नेता प्रेमचंद मिश्रा पलटवार करते हुए कहा कि राहुल गांधी को पत्र लिखने के बदले उन्हें मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से बातचीत करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि नीतीश गठबंधन की सरकार चला रहे हैं जिसमें बीजेरी साझेदार है और गुजरात में उसकी ही सरकार है।

राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) नेता और बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने इस मामले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत आरएसएस के लोगों पर निशाना साधा। तेजस्वी ने ट्वीट किया, ”यूपी, बिहार के लोगों को पीटने वालों गुजरात के लम्पट संघियों समझ लो, प्रधानमंत्री यूपी से चुनाव जीते है। मोदी जी, आप देश के प्रधानमंत्री हैं। इस मुद्दे पर आपकी चुप्पी खतरनाक है। आपके राज्य के लोग गैर-गुजरातियों को पीटकर भगा रहे हैं। क्या यही है आपका टीम इंडिया और सबका साथ, सबका विकास?”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App