ताज़ा खबर
 

Gujarat: राजकोट के प्राइवेट स्कूल बनेंगी गोशालाएं, हर हफ्ते बच्चे बिताएंगे 2 घंटे

छात्रों को हर हफ्ते कम से कम दो घंटे इस काम के लिए देने होंगे। इसमें गोशाला जाना भी शामिल है। इसके साथ-साथ गाय के मूत्र, गोबर, दूध और दूध से बने उत्पादों के बारे में जानना भी शामिल है।

Author राजकोट | June 29, 2019 3:22 PM
प्रतीकात्मक तस्वीर (इंडियन एक्सप्रेस)

मवेशियों की देखरेख और उनके खस्ताहाल को लेकर उठते सवालों के बीज गुजरात में नई पहल की गई है। यहां राजकोट के प्राइवेट स्कूलों में जल्द ही गायों को चारा खिलाने और उनका दूध निकालने की व्यवस्था की जाएगी। राज्य के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी के गृह क्षेत्र में बने प्राइवेट स्कूलों और उनके पास स्थित खाली प्लॉट्स में गोशालाएं बनाने की तैयारी चल रही है। इस पहल का मकसद शहरों में पढ़ने वाले बच्चों को गायों के दूध और उनसे बनने वाले उत्पादों का महत्व समझाना है।

मोटा मउवा से होगी शुरुआतः ऐसी पहली गोशाला का उद्घाटन रविवार (30 जून) को मोटा मउवा में किया जाएगा। करीब दो हजार छात्रों वाले इस स्कूल के ट्रस्टी धर्मेंद्र मेहता ने टीओआई से बातचीत में कहा, ‘कुछ महीनों पहले हमें होस्टल में छात्रों के साथ 14 गायें मिलीं। हम इस पहल को सभी छात्रों तक ले जाना चाहते हैं।’

हर हफ्ते कम से कम दो घंटे की क्लासः मेहता के मुताबिक, ‘छात्रों को हर हफ्ते कम से कम दो घंटे इस काम के लिए देने होंगे। इसमें गोशाला जाना भी शामिल है। इसके साथ-साथ गाय के मूत्र, गोबर, दूध और दूध से बने उत्पादों के बारे में जानना भी शामिल है। शहरों में कई परिवारों के ऐसे बच्चे भी हैं जिन्हें गायों के बारे में बहुत ज्यादा जानकारी नहीं है। हम उन्हें व्यावहारिक शिक्षा देना चाहते हैं और बताना चाहते हैं कि पशुपालन भी एक अच्छा बिजनेस हो सकता है।’

National Hindi News, 29 June 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की तमाम अहम खबरों के लिए क्लिक करें

गोशाल, गोबर गैस प्लांट आदि पर मिल रही सब्सिडीः राष्ट्रीय कामधेनु बोर्ड के चेयरमैन वल्लभ कथीरिया ने कहा कि हम पहले से गोशाला, गोबर गैस प्लांट्स आदि के संचालन के लिए सब्सिडी दे रहे हैं।

Bihar News Today, 29 June 2019: बिहार से जुड़ी हर खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App