ताज़ा खबर
 

गुजरात पुलिस ने पकड़े 900 नशेड़ी, थाने में जगह नहीं बची तो स्कूल बस में भरकर ले गए, नाश्ता लेकर पहुंचे कांग्रेस नेता

बड़ी तादाद में नशेड़ियों के पकड़े जाने के चलते कुछ जगहों पर पुलिस के सामने उन्हें थाने में रखने की जगह का संकट खड़ा हो गया।

तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है। (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

शराब बंदी वाले राज्यों में शुमार गुजरात में नए साल पर पुलिस ने नशेड़ियों पर ताबड़तोड़ कार्रवाई की। प्राप्त जानकारी के मुताबिक सोमवार-मंगलवार की दरमियानी देर रात तक 900 से ज्यादा लोगों को नशे की हालत में पकड़ा। इतनी बड़ी तादाद में नशेड़ियों के पकड़े जाने के चलते कुछ जगहों पर पुलिस के सामने उन्हें थाने में रखने की जगह का संकट खड़ा हो गया। ये कार्रवाइयां चौक-चौराहों के साथ-साथ कई रेस्त्राओं और होटलों में भी की गई। बताया जा रहा है कि नशे पर लगाम कसने के लिए पुलिस को आदेश जारी किया गया था।

स्कूल बस से दूसरी जगह ले जाना पड़ाः पूरे राज्य में सबसे ज्यादा 300 नशेड़ी अहमदाबाद में पकड़े गए। इसके अलावा पारडी में 205, वलसाड़ में 150, डुंगरा में 124, नवसारी में 111 नशेड़ी पकड़े जाने की जानकारी मिली है। इसके अलावा कई छोटे शहरों में भी पुलिस ने नशा करने वालों के खिलाफ सख्त रुख अख्तियार किया। प्राप्त जानकारी के मुताबिक पारडी में पुलिस के पास इतने नशेड़ियों को थाने में रखने की जगह तक नहीं था। इसके चलते अगले दिन सुबह उन्हें स्कूल बस के जरिये दूसरी जगह ले जाया गया। इसकी एक तस्वीर भी सामने आई जिसके बाद पुलिस पर भी सवाल उठाए गए।

कांग्रेस नेता नाश्ता लेकर पहुंचेः भास्कर की रिपोर्ट में दावा किया गया कि वापी के पास छरवाड़ा में वलसाड जिला पंचायत के सदस्य कांग्रेस नेता भाविक रमेश पटेल भी थाने पहुंचे। उन्होंने बताया कि वो एक पहचान वाले को नाश्ता देने के लिए थाने पहुंचे थे। उन्होंने इस बात पर सफाई भी दी कि उन्होंने खुद नशा नहीं किया था, वे सिर्फ परिचित को नाश्ता देने पहुंचे थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App