ताज़ा खबर
 

गुजरात: पत्‍थरबाजी में घायल हुईं डिप्‍टी एसपी, हाथ में पट्टी बंधवाने के बाद निकाला आरोपी का जुलूस

गुजरात के मेहसाणा में कुछ दिन पहले जानलेवा हमले में बचीं डीजी वंजारा की डिप्टी एसपी भतीजी मंजीता वंजारा ने कथित तौर पर आरोपियों को सबक सिखाने को लिए उनका जुलूस निकाला। इस दौरान मंजीता के हाथ में पट्टी बंधी हुई थी।

डिप्टी एसपी मंजीता वंजारा। (फोटो सोर्स- फेसबुक)

गुजरात के मेहसाणा में कुछ दिन पहले जानलेवा हमले में बचीं डीजी वंजारा की डिप्टी एसपी भतीजी मंजीता वंजारा ने कथित तौर पर आरोपियों को सबक सिखाने को लिए उनका जुलूस निकाला। इस दौरान मंजीता के हाथ में पट्टी बंधी हुई थी। टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक जब आरोपियों का जुलूस निकाल गया तब उनके हाथ बंधे हुए थे। पुलिस के सूत्रों के मुताबिक कादी पुलिस ने शेख इमामुद्दीन, मकबूल वेपारी और हनीफ कादर को 13 मार्च को पड़ी डकैती के आरोप में दबोचा है। पुलिस के एक सूत्र ने बताया- ”जब आरोपियों को अपराध वाली जगह पर ले जाया गया तो कुछ स्थानीय लोगों ने पत्थर फेंकना शुरू कर दिया। पुलिसवालों ने इसका सामना किया और आरोपियों को फरार नहीं होने दिया। हमले में मंजीता के दाहिने हाथ में फ्रैक्चर हो गया।” बुधवार (21 मार्च) को पुलिस ने दो लोगों को पत्थरबाजी के मामले में गिरफ्तार किया। मंजीता ने अपने हाथ में पट्टी बांधकर आरोपियों का जुलूस निकाला।

बता दें कि स्थानीय मीडिया के अनुसार कादी गांव के कुछ लोगों ने डकैती के एक मामले में पुलिस की पकड़ में आए कुछ आरोपियों को भगाने के लिए पुलिसवालों पर हमला कर दिया। लेकिन पुलिसवालों के डटकर सामने करने से आरोपी फरार नहीं हो पाए। स्थानीय मीडिया के अनुसार हमले में पुलिस की एक गाड़ी भी क्षतिग्रस्त हो गई थी। इसके बाद पुलिस ने 29 लोगों को हिरासत में लिया था। मेहसाणा के एसपी चेतन्य मांडलिक ने बताया कि एक आरोपी की छाती में दर्द उठने के बाद उसे अस्पताल जाया गया था।

इंस्पेक्टर केवी पटेल ने बताया कि डकैती के मामले में धरे गए आरोपियों की रिमांड गुरुवार को खत्म होनी थी, इसलिए पुलिसवाले आगे की जांच के लिए उन्हें क्राइम सीन वाली जगह पर ले गए थे। लेकिन भीड़ ने पुलिस वालों पर पत्थर बरसाने शुरू कर दिए। कहा जा रहा है कि लोगों ने पुलिसवालों पर पत्थर इसलिए चलाए ताकि आरोपी भाग सकें। लेकिन भीड़ अपने नापाक मंसूबे में सफल नहीं हो पाई और पुलिसवालों ने किसी भी आरोपी को भागने में सफल नहीं होने दिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App