ताज़ा खबर
 

गुजरातः फैल रहा था COVID-19, इसलिए आधी आबादी को मार्च से ही दी गई होम्योपैथिक दवा

राज्य स्वास्थ्य विभाग ने कहा कि विभाग ने राज्य के लगभग 3.48 करोड़ लोगों में आर्सेनिकम एल्बम -30 दवा का वितरण किया जा चुका है।

Author अहमदाबाद | Updated: August 23, 2020 10:26 PM
gujarat coronavirus homeopathic medicineगुजरात के सीएम विजय रुपाणी। (फाइल फोटो)

गुजरात के स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि राज्य में कोरोना का प्रकोप बढ़ने के साथ ही रोगनिरोधक के रुप में होम्योपैथिक दवा आर्सेनिकम एल्बम-30 को मार्च में ही राज्य की आधी से अधिक आबादी में वितरित किया गया है। गुजरात में ‘कोविड-19 की रोकथाम रणनीति’ पर विश्व स्वास्थ्य संगठन के सामने दी गई अपनी प्रस्तुति में, राज्य स्वास्थ्य विभाग ने कहा कि विभाग ने राज्य के लगभग 3.48 करोड़ लोगों में आर्सेनिकम एल्बम -30 दवा का वितरण किया जा चुका है।

हालांकि ऐसा कोई वैज्ञानिक सबूत नहीं मिला है, जिसके आधार पर यह कहा जा सके कि यह दवा कोविड-19 के उपचार में मददगार है।
राज्य सरकार ने यह भी दावा किया कि आयुष (आयुर्वेद, योग और प्राकृतिक चिकित्सा, यूनानी, सिद्ध और होम्योपैथी) का लाभ उठाने वाले 99.6 फीसदी लोग पृथकवास अवधि के दौरान इस रोगनिरोधक के प्रयोग के बाद संक्रमण से मुक्त पाए गए। मीडिया के साथ साझा की गई अपनी प्रस्तुति में, स्वास्थ्य विभाग ने कहा “आयुष के तहत सुझाए गए उपचार प्रतिरक्षा बढ़ाने में मददगार साबित हुए हैं। आयुष उपचार के प्रभाव को जानने के लिए एक शोध भी किया गया था।”

विभाग ने कहा, “33,268 लोग पृथकवास अवधि में आयुष दवाओं से लाभान्वित हुए, जिनमें से आधे ने होम्योपैथिक दवाओं का लाभ उठाया।” गुजरात की प्रधान सचिव(स्वास्थ्य) जयंती रवि ने रविवार को कहा कि “सरकार को आर्सेनिकम एल्बम -30 दवा की क्षमता को लेकर विश्वास था, क्योंकि जिन हजारों लोगों को आर्सेनिकम एल्बम-30 की खुराक दी गई थी उनमें से 99.69 प्रतिशत कोरोना वायरस संक्रमण से मुक्त पाए गए”

जयंति रवि ने बताया कि दवाई देने के बावजूद जो 0.3 फीसदी मरीज कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। उनमें बीमारी के बेहद हल्के लक्षण हैं। प्रथम दृष्टया ऐसा लगता है कि आर्सेनिकम एल्बम 30 दवाई कोरोना वायरस के खिलाफ काफी प्रभावी है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ITBP को सलाम! 15 घंटे, 40Km पैदल चल जख्मी महिला को स्ट्रेचर पर ले गए जवान, दुर्गम पहाड़ों और उफनते नालों को किया पार
2 बीजेपी शासित राज्य में खुलने जा रही गधी के दूध की पहली डेयरी, 7000 रुपये प्रति लीटर होगी कीमत!
3 रंजन गोगोई हो सकते हैं बीजेपी के असम सीएम कैंडिडेट- पूर्व सीएम ने किया दावा, कुमार विश्वास ने मारा ताना
ये पढ़ा क्या?
X