ताज़ा खबर
 

एअर मार्शल रविंदर कुमार धीर रिटायर हुए, गुजरात सरकार ने फौरन बना लिया ‘सलाहकार’

गौरतलब है कि एअर फोर्स के किसी रिटायर्ड अधिकारी को पहली बार गुजरात सरकार में बतौर सलाहकार नियुक्त किया गया है। बता दें कि गुजरात ने साल 2016 में एअरोस्पेस एंड डिफेंस पॉलिसी की घोषणा की थी।

gujaratएअर मार्शल (रिटायर्ड) आरके धीर (बाएं)(फाइल फोटो)

भारतीय वायुसेना की दक्षिणी पश्चिमी एअर कमांड के चीफ एअर मार्शल रविंदर कुमार धीर (आरके धीर) शनिवार को रिटायर हो गए। एअर मार्शल आरके धीर के रिटायर होते ही गुजरात सरकार ने फौरन उन्हें एक महत्वपूर्ण पद पर सलाहकार नियुक्त कर दिया है। बता दें कि गुजरात सरकार ने एअर मार्शल को राज्य की महत्वकांक्षी डिफेंस एंड एअरोस्पेस इंडस्ट्रीज का सलाहकार नियुक्त किया है। अपनी तरह की पहली इस नियुक्ति में गुजरात की भाजपा सरकार ने शनिवार को एक प्रेस रिलीज जारी कर इस नियुक्ति की जानकारी दी। एअर मार्शल आरके धीर 1 अक्टूबर से ही अपना पदभार संभाल लेंगे। गुजरात सरकार के मुख्य सचिव जेएन सिंह ने कहा है कि हम डिफेंस सेक्टर में जरुरी विशेषज्ञों की कमी से जूझ रहे हैं और इसलिए हमने यह नियुक्ति की है। वह डिफेंस इंडस्ट्री के साथ-साथ माइन्स डिपार्टमेंट में भी काम करेंगे और सीएम विजय रुपाणी और मुझे रिपोर्ट करेंगे।

गौरतलब है कि एअर फोर्स के किसी रिटायर्ड अधिकारी को पहली बार गुजरात सरकार में बतौर सलाहकार नियुक्त किया गया है। गुजरात ने साल 2016 में एअरोस्पेस एंड डिफेंस पॉलिसी की घोषणा की थी। घोषणा के तहत गुजरात सरकार धोलेरा इन्वेस्टमेंट रीजन में सरकार डिफेंस और एअरोस्पेस इंडस्ट्रीज के लिए हब बनाने वाली है। इससे पहले साल 2014 में मोदी सरकार ने राज्य में 22 इंडस्ट्रीज को डिफेंस मैन्यूफैक्चरिंग यूनिट लगाने का लाइसेंस दिया था। गुजरात सरकार से लाइसेंस प्राप्त करने वाली कंपनियों में Pipavav Defence and Offshore Engineering Company Ltd (जोकि फिलहाल Reliance Naval and Engineering Ltd के नाम से जानी जाती है), AMW Motors, Swallow Systems Pvt Ltd, Modest Infrastructure Ltd, Fedders Lloyd Corporation Ltd आदि का नाम शामिल है।

इससे पहले शनिवार को एअर मार्शल धीर ने अपने रिटायरमेंट के अवसर पर कमांडर कॉन्कलेव को संबोधित किया। यह कॉन्कलेव दक्षिणी पश्चिमी कमांड के हेडक्वार्टर गांधीनगर में आयोजित किया गया, जिसमें सभी कमांड गुजरात, राजस्थान और महाराष्ट्र के प्रमुख मौजूद थे। एअर मार्शल आरके धीर, जो कि नेशनल डिफेंस एकेडमी के पूर्व छात्र रहे हैं, उन्होंने साल 2015 में दक्षिणी पश्चिमी कमांड के चीफ का पद संभाला था। साल 1979 में उन्हें इंडियन एअर फोर्स की फाइटर स्ट्रीम में कमीशंड मिला था। एअर मार्शल आरके धीर को अपने 38 साल लंबे करियर में 25 विभिन्न तरह के एअरक्राफ्ट करीब 3200 घंटे उड़ाने का अनुभव है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 केरल में बड़ी तादाद में ट्रेनों से परिवार समेत पहुंच रहे रोहिंग्‍या, ‘सीक्रेट लेटर’ के बाद RPF अलर्ट
2 बीजेपी की रैली में फहराया उल्टा तिरंगा, पुलिस ने दर्ज किया केस
3 शिवसेना ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ खोला मोर्चा, 12 घंटे बंद का किया ऐलान